पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • बच्चों के साथ मां से मिलने आईं थी दो बेटियां, बरसात से छत गिरी, एक की मौत छह जख्मी

बच्चों के साथ मां से मिलने आईं थी दो बेटियां, बरसात से छत गिरी, एक की मौत-छह जख्मी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पिहोवा| गुमथला में बरसात के चलते मकान की छत गिरी ।

भास्कर न्यूज | पिहोवा

गांव गुमथलागढू़ में बरसात के चलते मकान की छत गिर गई। दबने से महिला की मौत हो गई। जबकि 4 बच्चों समेत 6 लोग जख्मी हो गए। मकान गिरने की आवाज सुनते ही मौके पर पहुंचे लोगों ने मलबे में से घायलों को बाहर निकाला।

गुमथला गूढ़ निवासी कर्मबीर ने बताया कि बहन बीरो देवी व रोशनी देवी चारों बच्चों के साथ मां ज्ञानो देवी से मिलने के लिए गांव आईं थी। सोमवार रात को खाना खाने के बाद बीरो देवी, रोशनी देवी, ज्ञानो देवी व चारों बच्चे कमरे में सो गए थे। रात लगभग 11 बजे कमरे की छत एकदम से नीचे गिर गई। कमरे में सो रहे सातों लोग मलबे के नीचे दब गए। मकान गिरने की आवाज सुनते ही आसपास के लोग मौके पर पहुंचे और मलबे को हटाया। बीरो देवी की मौके पर ही मौत हो गई थी। ज्ञानो देवी की गंभीर हालत देखते हुए पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया। सरपंच गगनजोत सिंह संधू, नायब तहसीलदार राजेंद्र कुमार व ग्राम सचिव राहुल मौके पर पहुंचे और परिवार को सांत्वना देते हुए कहा कि सरकार की तरफ से हर प्रकार की मदद की जाएगी। वहीं सरपंच गगनजोत सिंह संधू ने आर्थिक मदद दी।

समय पर नहीं मिली सहायता:सरपंच गगनजोत

सरपंच गगनजोत संधू ने बताया कि दो साल पहले बीरो देवी के पिता हरिकृष्ण की मौत हो चुकी है। सरकार द्वारा मकान बनाने को सहायता राशि की योजना चलाई थी। इसी के चलते उन्होंने परिवार को सहायता राशि दिलवाने के लिए फार्म भरकर उच्चाधिकारियों को भेजा था। अगर समय पर सरकार द्वारा सहायता राशि दी जाती तो यह हादसा होने से टल जाता।

खबरें और भी हैं...