पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • शोर शराबे की वजह से पशु पक्षियों ने बदली भाषा, साथियों को अब और ऊंची आवाज में संदेश देने लगे

शोर-शराबे की वजह से पशु-पक्षियों ने बदली भाषा, साथियों को अब और ऊंची आवाज में संदेश देने लगे

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शोर-शराबे वाली जगह पर किसी से कुछ कहने के लिए हमें अपनी आवाज ऊंची और तेज करनी पड़ती है। लेकिन इसका असर अब पशु-पक्षियों पर भी दिखने लगा है। हालात ये हो गए हैं कि आम तौर पर बेजुबान माने जाने वाले इन स्पेसीज को भी अपनी आवाज और व्यवहार बदलना पड़ा है। इनमें चिड़िया से लेकर बंदर, व्हेल और डॉल्फिन तक है। इसका असर जंगलों, ऑॅयलफील्ड के अलावा समुद्री इलाकों में भी देखा गया है। यह चौंकाने वाली जानकारी कनाडा की यूनिवर्सिटी ऑफ मैनिटोबा के पक्षी वैज्ञानिकों की ताजा रिसर्च में सामने आई है। इसके मुताबिक ब्राजील के वर्षा वनों के किनारों पर खनन गतिविधियों की वजह से स्थानीय ब्लैक-फ्रंटेड टिटि बंदरों के व्यवहार पर असर पड़ा है। तटीय इलाकों में ड्रिलिंग, जहाजों के इंजनों की आवाज की वजह से व्हेल और डॉल्फिन ने अपना व्यवहार बदला है। इतना ही नहीं, प्रजजनकाल के दौरान इनकी आवाज में भारी बदलाव भी देखा गया है। रिसर्च के तहत कनाडा के अल्बर्टा में सवाना चिड़िया के लव सॉन्ग्स का भी अध्ययन किया गया। रिसर्च में शामिल मियागो वॉरिंगटन कहते हैं, ‘अगर कोई चिड़िया अपने साथी को बुलाने के लिए गीत गाती है, लेकिन ऑयफील्ड पर पंप और मशीनों की आवाज में उसकी आवाज दब जाती है। ऐसे में वह क्या करेगी? लिहाजा इन पशु-पक्षियों ने अपनी आवाज और ऊंची और तेज कर दी है, जिससे उनके साथी तक संदेश पहुंच सके।’ मेक्सिको में ऑयल-गैस इंफ्रास्ट्रक्चर के शोर की वजह से माउंटेन ब्लू बर्ड्स में तनाव बढ़ने के लक्षण मिले हैं। शेष | पेज 2

रिसर्च का दावा- मशीनों के शोर की वजह से बदल रहा है पशु-पक्षियों का व्यवहार
साथी को बुलाने के लिए अपनी विशेष धुन भी जोड़ने लगे हैं पक्षी
रिसर्च टीम ने कनाडा में 200 किमी के दायरे में 26 साइट्स पर पशु-पक्षियों का अध्ययन भी किया। इसमें 73 सवाना मेल चिड़िया पर रिसर्च की गई। कनाडा में ऑयलफील्ड में पक्षियों के आवाज और व्यवहार पर हुई रिसर्च में पता चला कि लव सॉन्ग्स के दौरान हर पक्षी अपनी एक विशेष धुन भी जोड़ता है। अगर वहां पंप चल रहा है तो चिड़िया उसके हिसाब से अपनी आवाज में उतार-चढ़ाव लाती है। पता चला कि जनरेटर पंप चलते वक्त ये सबसे ऊंची आवाज करती है।

खबरें और भी हैं...