पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सफाई कर्मचारियों की भर्ती में हुई धांधली की जांच करवाने की मांग

सफाई कर्मचारियों की भर्ती में हुई धांधली की जांच करवाने की मांग

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस के नगर महामंत्री हरभजन कंडारा तथा अन्य कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को जिला कलेक्टर के नाम ज्ञापन भेज सफाई कर्मचारियों की भर्ती में पिछड़ा वर्ग के अयोग्य उम्मीदवारों का चयन खारिज करने की मांग की है।

उन्होंने ज्ञापन में बताया कि राजस्थान सरकार स्वायत्त शासन विभाग ने सफाई कर्मचारियों की भर्ती का आदेश सभी नगरपालिकाओं को दिया था। जिसमें केवल जो सफाई का कार्य कर रहे हैं उनको ही भर्ती किया जाना है। वहीं नगरपालिका द्वारा सफाई कर्मचारियों की भर्ती के लिए चयन किया, लेकिन नगरपालिका द्वारा इस चयन प्रक्रिया में धांधली कर जो कभी भी सफाई का कार्य नहीं करने वाले ओबीसी व सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों का चयन किया गया, जो पूर्णतया गलत है। चयनित कर्मचारियों द्वारा गलत अनुभव प्रमाण पत्र पेश किया गया। उन्होंने कभी भी सफाई का कार्य नहीं किया है और न ही अब कर रहे हैं। जो सही उम्मीदवार थे उनके हक व अधिकारों का हनन हुआ है। यह सफाई कर्मचारी चयनित हुए हैं वो वार्ड मेंबर के पुत्र व रिश्तेदार व नगरपालिका पोकरण के कर्मचारियों के रिश्तेदार भी शामिल है, जबकि भर्ती में नगरपालिका विभाग का कोई भी कर्मचारी व मेंबर का रिश्तेदार का चयन नहीं होना चाहिए। उन्होंने मांग की है कि ओबीसी व जनरल वर्ग वाले सभी चयनित उम्मीदवारों को अनुभव प्रमाण पत्रों की जांच करवाई जाए। साथ ही जिन एजेंसियों ने उनको गलत अनुभव प्रमाण पत्र जारी किया है उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए। जब तक यह जांच व कार्रवाई नहीं की जाती है तब तक आंदोलन किया जाएगा। इसमें वाल्मिकी समाज के सभी सफाई कर्मचारी कार्य का बहिष्कार करेंगे। साथ ही सभी सफाई कर्मचारियों 9 अगस्त से अनिश्चितकालीन धरना देंगे।

खबरें और भी हैं...