पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • तीन दिन के अंतराल के बाद बरसे मेघ, 70 हजार हेक्टेयर में बुवाई हो चुकी अगेती फसलों को फायदे की उम्मीद

तीन दिन के अंतराल के बाद बरसे मेघ, 70 हजार हेक्टेयर में बुवाई हो चुकी अगेती फसलों को फायदे की उम्मीद

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
तीन दिन के अंतराल के बाद शनिवार को जिलेभर में अधिकांश जगहों पर बारिश हुई। मेघों ने लोगों को उमस से राहत दी। जिला मुख्यालय पर दोपहर बाद 51 एमएम बारिश दर्ज की गई। छोटीसादड़ी में 6 एमएम व धरियावद में 27 एमएम बारिश दर्ज हुई। बारिश से खेतों में बुवाई कर चुके किसानों की फसलों को लाभ मिलने की उम्मीद है। बारिश का दौर थमने से लोग उमस से बेहाल हो रहे थे। सुबह से ही गर्मी रही। शाम 3:45 बजे जिला मुख्यालय, आसपास के क्षेत्रों व जिले के विभिन्न क्षेत्रों में बरसे बादलों ने लोगों को उमस और गर्मी से राहत दी। शाम 3.45 बजे से दो घंटे तक तेज बारिश से चारों तरफ पानी ही पानी हो गया। शहर की नालियां कुछ ही देर में कचरे और गंदगी से उफनने लगी। सड़कों पर पानी बह निकला। कई मोहल्लों में सड़क पर एक फीट तक पानी भर गया। बारिश इतनी तेज थी कि कुछ ही दूरी पर भी नजर नहीं आ रहा था। वाहन चालकों को दिन में भी लाइट जलाकर निकलना पड़ा।

बुवाई कर चुके किसानों को था इंतजार : जिले में 1 लाख 86 हजार हेक्टेयर में बुवाई का लक्ष्य रखा है। इसमें से किसान 70 हजार हेक्टेयर में बुवाई कर चुके हैं। बुवाई वाले खेतों में फसल को बारिश का इंतजार था। किसानों का कहना है कि बारिश से फसल के जमीन से निकलने, बढ़वार में सुविधा मिलेगी।

प्रतागपढ़. शहर के हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में बारिश के दौरान छत से गिरता पानी।

धरियावद में दो घंटे तक चला बारिश का दौर, मौसम में ठंडक

धरियावद | कस्बे में सुबह से गर्मी, उमस से बेहाल लोगों को दोपहर को हुई दो घंटे की बारिश ने राहत दी। 2:55 बजे से शाम 4:30 बजे तक तेज बारिश हुई। बाद में तेज हवा चलने से बारिश थम गई। शाम 5 बजे तक रिमझिम बारिश होती रही। नदी-नालों में पानी की आवक रही। मौसम कक्ष के अनुसार दोपहर को 19 एमएम बरसात दर्ज की। दिन का तापमान 27.5 डिग्री तथा रात का तापमान 26 डिग्री दर्ज किया।

धरियावद

अच्छी बारिश की कामना काे लेकर किया सुंदरकांड का पाठ
पारसोला | कस्बे में सुबह से धूप-छांव का दौर चला। शाम को आसमान में काले बादल छा गए और 4.45 बजे तेज बारिश शुरू हो गई। करीब 15 मिनट तक तेज बारिश हुई।

अवलेश्वर | कस्बा व आसपास के गांवों में सुबह से दोपहर तक उमस से परेशान रहने के बाद 3.15 बजे से एक घंटे तक तेज बारिश हुई। इससे खेतों में पानी भर गया। किसानों को बुवाई का काम पूरा होने के बाद बारिश का इंतजार था। आसपास के क्षेत्र कुलथाना, बसेरा, कुणी, कल्याणपुरा, मोखमपुरा, बसाड़, अरनिया, देवद, सेमली, रजौरा, गंधेर गांवों में भी तेज बारिश हुई।

अवलेश्वर | क्षेत्र के रोकड़िया हनुमानजी मंदिर में शनिवार को जिले में अच्छी बारिश की कामना को लेकर संगीतमय सुंदरकांड का पाठ किया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में मौजूद श्रद्धालुओं ने भजनों की भी प्रस्तुतियां दीं। इस दौरान बड़ी संख्या में आसपास के क्षेत्र के श्रद्धालु मौजूद थे।

छोटीसादड़ी में एक घंटा बारिश

छोटीसादड़ी | नगर सहित क्षेत्र में दोपहर 2:30 बजे से कभी तेज तो कभी धीमी बारिश ने खेतों में बोई फसलों को उगने की सौगात दी। इससे किसानों में खुशी का माहौल है। क्षेत्र के अधिकांश गांवों में घंटे भर की तेज बारिश के बाद नदी-नालों में पानी की आवक शुरू हो गई। नगर में भी 1 घंटे तक तेज बारिश से तेज उमस वह गर्मी से परेशान लोगों को राहत मिली। क्षेत्र के गोमाना, गायरियावास, साटोला, जलोदा, बंबोरी, धोलापानी आदि गांवों में भी बारिश से फसलों को राहत मिली।

खबरें और भी हैं...