पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raigarh
  • बाल संरक्षण अधिकारी ने कहा बर्खास्त अधीक्षिका झूठे केस में फंसा रही

बाल संरक्षण अधिकारी ने कहा-बर्खास्त अधीक्षिका झूठे केस में फंसा रही

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बाल संरक्षण अधिकारी दीपक डनसेना ने एसपी को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में अधिकारी ने बर्खास्त अधीक्षिका सविता साव द्वारा जबरन फंसाने की बात कही है।

एसपी को दिए गए ज्ञापन में उसने पूर्व अधीक्षिका पर कई आरोप भी लगाए हैं। जिला बाल संरक्षण इकाई के अध्यक्ष दीपक डनसेना ने 2 जुलाई को एसपी के नाम पत्र लिखकर बर्खास्त अधीक्षिका सविता साव द्वारा झूठे केस में फंसाए जाने की बात कही गई है।

दिए गए पत्र में उस मामले का भी उल्लेख किया है जिसमें संस्था की रसोईया सीमा चौहान ने पहले सविता साव के खिलाफ महिला बाल विकास के अफसर को लड़कियां उपलब्ध कराने की शिकायत एसपी और डीपीओ से की थी।

मामले में आरोपों की पुष्टि होने पर सविता साव को बर्खास्त कर दिया गया था। श्री डनसेना का आरोप है कि अब इसी मामले में सविता साव बाल संरक्षण अधिकारी और महिला संरक्षण अधिकारी चैताली राय विश्वास को फंसाने की साजिश रच रही है।

महिला एवं बाल विकास अधिकारी पर लड़कियां

उपलब्ध कराने का आरोप लगाने का मामला

मुझे फंसाने की साजिश की जा रही है। इसलिए मैने सुरक्षा को देखते हुए एसपी कार्यालय में उनसे मिलकर ज्ञापन सौंपा है। \\\'\\\' दीपक डनसेना, बाल संरक्षण अधिकारी, रायगढ़

सारे आरोप निराधार है। मुझे भी फंसाने की कोशिश की जा रही है। मैंने कभी किसी को फंसाने की कोशिश नहीं की। सारी मनगढ़ंत कहानी है।\\\'\\\' सविता साव, बर्खास्त अधीक्षिका

खबरें और भी हैं...