पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • राज्य के पांच प्राइवेट डेंटल कॉलेजों की सीटों का आवंटन आयुष ने रोका

राज्य के पांच प्राइवेट डेंटल कॉलेजों की सीटों का आवंटन आयुष ने रोका

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राज्य के पांच निजी डेंटल कॉलेजों की बीडीएस की 500 सीटों का आवंटन चिकित्सा संचालनालय ने रोक दिया है। इन कॉलेजों को अब तक पं. दीनदयाल उपाध्याय आयुष विवि से संबद्धता नहीं मिली है।

विवि से संबद्धता पत्र मिलने के बाद कॉलेज प्रबंधन सीटें आवंटित कर सकेंगे। उसके बिना एक भी सीट का आवंटन नहीं किया जाएगा। काउंसिलिंग शुरू होने के डेढ़ महीने पहले चिकित्सा शिक्षा संचालनालय की ओर से कॉलेज प्रबंधन को संबद्धता प्रमाण पत्र के लिए पत्र लिखा गया। उनकी ओर से कोई जवाब नहीं दिया गया। अब तक उनकी ओर से विवि से संबद्धता का प्रमाणपत्र पेश नहीं किया गया। चिकित्सा शिक्षा संचालनालय के प्रवक्ता डॉ. जितेंद्र तिवारी का कहना है कि बिना संबद्धता प्रमाणपत्र के सीटों का आवंटन अवैध है, इस वजह से पांच निजी कॉलेजों को काउंसिलिंग से बाहर रखा गया है। इन कॉलेजों में 250 स्टेट कोटे व इतनी ही मैनेजमेंट कोटे की सीटें हैं। पहले चरण में इन कॉलेजों को एक भी बीडीएस की सीटें आवंटित नहीं की गई है।





दूसरी ओर आयुष विवि के अधिकारियों का कहना है कि कॉलेज प्रबंधन की ओर से जरूरी मापदंड पूरा करते ही संबद्धता प्रमाण पत्र जारी कर दिया जाएगा। बिना मापदंड पूरा किए संबद्धता प्रमाण पत्र जारी नहीं किया जा सकता।

नेहरू मेडिकल कॉलेज में 105 एडमिशन

पहले चरण की काउंसिलिंग में एडमिशन लेने का शनिवार को आखिरी दिन था। कुल 105 छात्रों ने एडमिशन लिया। जबकि संचालनालय ने 117 सीटों का आवंटन किया था। नीट में स्टेट टॉपर रहे छात्र ने यहां एडमिशन नहीं लिया है। बाकी टॉपर भी दूसरे राज्यों के मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लिया है। नेहरू मेडिकल कॉलेज में आल इंडिया कोटे की 22 सीटों में नौ पर एडमिशन हो चुका है।

स्टेट व आल इंडिया की खाली सीटों को दूसरे चरण की काउंसिलिंग से भरा जाएगा। प्रदेश में इस साल स्टेट कोटे की 494 सीटों के लिए काउंसिलिंग हो रही है।

खबरें और भी हैं...