पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 9 मौके मिलने पर भी छात्र नहीं हो रहे पास

9 मौके मिलने पर भी छात्र नहीं हो रहे पास

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रायपुर डीबी स्टार

डीबी स्टार को शिकायत मिली कि राज्य आेपन स्कूल की परीक्षा की तैयारी करने के लिए न तो किसी स्कूल में पढ़ाई होती है और न ही इनका कहीं कोई केन्द्र है। जिससे स्टूडेंट्स परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं हो पा रहे हैं। शिकायत पर टीम ने पड़ताल की। तब पाया कि जिन स्कूलाें को राज्य ओपन स्कूल द्वारा पढ़ाई का केन्द्र बताया गया था। यही नहीं राज्य ओपन स्कूल ने दावा किया है कि प्रदेशभर में करीब 409 ओपन स्कूलों के स्टूडेंट्स की पढ़ाई करवाई जाती है। जिस पर टीम ने मौके पर पहुंचकर पड़ताल की। जिन स्कूलों की पड़ताल की गई। दरअसल, वहां न तो ओपन स्कूल की कोई क्लॉसें लगती हैं और न हीं ओपन स्कूल के स्टूडेंट्स की पढ़ाई की जाती है। जिसके चलते प्रदेश के करीब 400 से अधिक स्टूडेंट्स एक बार की परीक्षा में पास नहीं हो पाए तो दूसरा मौका दिया गया। इस तरह से दसवीं और बारहवीं में नौ मौके मिलने के बाद भी वह उत्तीर्ण नहीं हो पाए हैं। जिससे उनका रजिस्ट्रेशन निरस्त हो गया।

जिन स्कूलों को बताया पढ़ाई का केन्द्र वहां निकले परीक्षा केंद्र, ओपन स्कूल की कक्षाएं ही नहीं लगती
जानिए, जमीनी हकीकत
पीएल यादव शास.हिन्दू उ.मा.वि. में पड़ताल के दौरान पाया कि वहां अन्य स्कूलों की क्लॉसें लगती हैं, वहां ओपन स्कूल संबंधी किसी तरह की कोई पढ़ाई नहीं होती है।

जेआरदानी उ.मा.वि. में नियम स्कूल की क्लॉसें लगती हैं, ओपन स्कूल संबंधी कोई पढ़ाई नहीं होती है।

बहु. उ.मा.वि. में ओपन स्कूल की पढ़ाई नहीं होती हैं, इस स्कूल में पत्राचार की परीक्षाएं होती हैं।

माधवराव सप्रे उ.मा.वि. में भी जमीनी हकीकत में वहां नियमित स्टूडेंट्स की क्लॉसें लगती हैं, ओपन स्कूल संबंधी कोई पढ़ाई नहीं होती है।

इन कारणों से पास नहीं हो पा रहे स्टूडेंट्स
1. ओपन स्कूल क्लॉसें नहीं लगने से उत्तीर्ण नहीं हो पा रहे स्टूडेंट्स।

2. घर में ही पढ़ाई करते हैं स्टूडेंट्स उन्हें मार्गदर्शन नहीं मिलने से पास नहीं हो पाते हैं।

3. कोर्स को कैसे कंपलीट करें, कब-कब पढ़ाई करें। इसके लिए भी कोई गाइड देने वाला नहीं

4. केवल एक सप्ताह परीक्षा की तैयारी होती है। जिससे पास नहीं हो पा रहे स्टूडेंट्स

शिक्षा विभाग के दावे, इन स्कूलों में होती है पढ़ाई
पीएल यादव शासकीय हिन्दू उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रायपुर

जेआर दानी शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रायपुर

शास बहु. उच्च. माध्य. विद्यालय शहीद स्मारक नगर निगम उमावि फाफाडीह चौक

माधवराव सप्रे ननि उ.मा.वि.

फीस कम इसलिए कक्षाएं सिर्फ सप्ताह भर ही
 स्टूडेंट्स से केवल 1100 रुपए प्रवेश और 75 रुपए परीक्षा फीस ली जाती है। सालभर पढ़ाई नहीं करवाते हैं, केवल एक सप्ताह के लिए ही कक्षाएं लगती हैं। स्टूडेंट्स को परीक्षा में पास होने के लिए 9 मौके दिए जाते हैं। पास नहीं होने पर उसका रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया जाता है। डॉ एनके अग्रवाल, उप सचिव, राज्य ओपन स्कूल

खबरें और भी हैं...