पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • नजूल जमीन का रिकार्ड अपडेट मिलान के बाद होने लगी रजिस्ट्री

नजूल जमीन का रिकार्ड अपडेट मिलान के बाद होने लगी रजिस्ट्री

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रशासनिक रिपोर्टर | रायपुर

आबादी जमीन यानी शहर में रजिस्ट्री वाली जमीन की खरीदी-बिक्री में भले ही पंजीयन विभाग के नए नियम आड़े आ रहे हों, लेकिन तहसील अफसरों का दावा है कि यहां के सारे नजूल प्लाट ऑनलाइन अपडेट कर दिए गए हैं। नजूल प्लाट की संख्या 25 हजार से अधिक है।

रिकार्ड अपडेट होने की वजह से अब नए नियम के तहत नजूल जमीन की खरीदी-बिक्री मुश्किल नहीं होगी। सिर्फ रिकार्ड का मिलान करना होगा, इसके बाद रजिस्ट्री हो जाएगी। यह सिलसिला भी शुरू हो गया है। नजूल जमीन की रजिस्ट्री के लिए पंजीयन विभाग की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुसार खसरा नंबर जरूरी नहीं है। लेकिन ब्लॉक नंबर, शीट नंबर और प्लॉट नंबर दस्तावेजों में दर्ज होना चाहिए। इसके अलावा हर प्लॉट में अलग-अलग रकबे के साथ भुईंयां के ऑनलाइन रिकार्ड से जमीन के दस्तावेजों के रिकार्ड मेल खाने चाहिए। रजिस्ट्री विभाग के अफसरों का कहना है कि नजूल जमीन की रजिस्ट्री के लिए जो दिक्कतें आ रही थी उन्हें दूर कर लिया गया है। ऑनलाइन रिकार्ड अपडेट होने की वजह से लोगों को रजिस्ट्री कराने में भी आसानी हो रही है। हालांकि कई लोग ऐसे भी हैं जो ऑनलाइन रिकार्ड नहीं मिलने की वजह से वापस भी हो रहे हैं।

बंदिशों से कम हुई रजिस्ट्री : आबादी और कृषि समेत पहले सभी तरह की जमीन की रजिस्ट्री एक दिन में 100 से ज्यादा होती थी।



, लेकिन नई बंदिशों के कारण अभी हर दिन 20 से भी कम रजिस्ट्री हो रही है।

अभी केवल सरकारी एजेंसियों की जमीन और मकान की रजिस्ट्री ही आसानी से हो रही है। बाकी किसी भी तरह की जमीन की रजिस्ट्री के लिए लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। दस्तावेजों की कमी या रिकार्ड नहीं मिलने की वजह से हर दिन बड़ी संख्या में लोग वापस हो रहे हैं।

वर्जन...

ऑनलाइन रिकार्ड अपडेट होने की वजह से नजूल जमीन की रजिस्ट्री अब हो रही है। इसमें कोई दिक्कत नहीं है। जिनके रिकार्ड नहीं मिल रहे उनकी जानकारी भी भेज कर रहे अपडेट करवाया जा रहा है।

बीएस नायक, मुख्य पंजीयक

खबरें और भी हैं...