पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 18 दिन के बाद रक्षाबंधन, फिर भी मिठाई दुकानों से नहीं ले रहे सैंपल

18 दिन के बाद रक्षाबंधन, फिर भी मिठाई दुकानों से नहीं ले रहे सैंपल

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
खाद्य विभाग ने रक्षाबंधन के पहले मिठाई दुकानों की जांच अब तक शुरू नहीं की है। 18 दिनों बाद त्योहार है। त्योहारी सीजन में मिठाइयों में मिलावट की आशंका बढ़ जाती है। इसके बाद भी दुकानों की जांच शुरू नहीं करना कई सवाल खड़े कर रहे हैं। रक्षाबंधन 26 अगस्त को है। इस दिन राजधानी में लाखों रुपए की मिठाई बिकेगी। इसके बावजूद खाद्य विभाग मिठाई दुकानों व अन्य खाद्य सामग्री की जांच नहीं कर रहा है और न ही सैंपल ले रहा है। राजधानी में 100 से ज्यादा छोटी-बड़ी मिठाई दुकान है। रक्षाबंधन पर लाखों रुपए की मिठाई बिकती है। इसके पहले स्वतंत्रता दिवस है। इस दिन भी लाखों की मिठाइयां बेची जाती है। स्कूलों में बूंदी की सप्लाई बड़े तादाद में होती है। विभाग त्योहार के दो-तीन दिनों पहले सैंपल लेता है। रिपोर्ट आए बिना त्योहार चला जाता है। यानी मिलावटी मिठाई बिक चुकी होती है। पहले हुई जांच में मिठाइयों में मिलावट की पुष्टि हुई है। खाद्य व ड्रग विभाग के असिस्टेंट कमिश्नर ने बताया कि बारी-बारी से मिलावट की आशंका वाली दुकानों की जांच की जाएगी।

बड़ी दुकान से नहीं लेते सैंपल : राजधानी में 15 से ज्यादा बड़ी दुकान है, जहां सैंपल कभी नहीं लिया जाता। पिछले साल शास्त्रीबाजार स्थित एक दुकान में अंजीर कतली में रस्सी के रेशे मिले थे। कालीबाड़ी स्थित लैब की जांच में इसकी पुष्टि हुई थी। हालांकि दुकानदार का दावा था कि लैब में कौनसा सैंपल जांच के लिए दिया गया था कहा नहीं जा सकता।



दूध से बनी मिठाइयों में भी मिलावट की पुष्टि हुई है। पिछले साल खोवा में आलू के बुरादे मिले थे। यह सैंपल दिवाली के पहले लिया गया था। रिपोर्ट त्योहार के बाद आई थी।

खबरें और भी हैं...