पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • मायाराम सुरजन स्कूल में बनाया 340 सीटर ऑडिटोरियम, गवर्नमेंट स्कूल में ये सबसे बड़ा

मायाराम सुरजन स्कूल में बनाया 340 सीटर ऑडिटोरियम, गवर्नमेंट स्कूल में ये सबसे बड़ा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चौबे कॉलोनी स्थित मायाराम सुरजन गवर्नमेंट गर्ल्स स्कूल में 340 सीटर ऑडिटोरियम बनाया गया है। शहर के किसी भी गवर्नमेंट स्कूल में तैयार किया गया ये अब तक का सबसे बड़ा ऑडिटोरियम है। 2 करोड़ रुपए से 650 वर्ग मीटर यानी 6 हजार 981 स्क्वेयर फीट एरिया बनाए गए ऑडिटाेरियम में लग्जरी चेयर्स, लाइट, म्यूजिक और साउंड सिस्टम जैसी कई मॉडर्न फैसिलटीज अवेलेबल हैं।

यहां ग्राउंड फ्लोर में हॉल, स्टेज, ड्रेसिंग रूम और ग्रीन रूम बनाया गया है। फर्स्ट फ्लोर में तैयार की गई बालकनी में भी सिटिंग अरेंजमेंट दिया गया है। स्टूडेंट्स को छत्तीसगढ़ी संस्कृति और यहां की महान शख्सियतों से वाकिफ कराने पेंटिंग्स भी उकेरी गई हैं। इससे पहले नलघर चौक स्थित जेएन पांडेय स्कूल में बना लगभग 200 सीटर ऑडिटोरियम शहर के किसी भी गवर्नमेंट स्कूल का सबसे बड़ा ऑडिटोरियम था।

ऐसा दिखता है ऑडिटोरियम।

संस्थाओं को ऑडिटोरियम लेने पर देना होगा मेंटेनेंस चार्ज

स्कूल प्रिंसिपल डॉ. भावना तिवारी ने बताया, एजुकेशनल सेमिनार, वर्कशॉप, कल्चरल इवेंट्स और स्टूडेंट्स की स्किल डेवलपमेंट से संबंधित सभी तरह के कार्यक्रमों के लिए ऑडिटोरियम दिया जाएगा। शहर का कोई भी व्यक्ति, स्कूल, कॉलेज या संस्था स्टूडेंट्स से रिलेटेड प्रोग्राम यहां आर्गनाइज कर सकेंगे। पर्सनल इवेंट्स के लिए ऑडिटोरियम नहीं दिया जाएगा। मेंटेनेंस के लिए रेंट लिया जाएगा। रेंट कितना होगा ये फिलहाल तय नहीं किया गया है। पीडब्ल्यूडी डिपार्टमेंट, शाला समिति और शिक्षा विभाग के अधिकारी मिलकर रेंट तय करेंगे। अगले तीन साल तक ऑडिटोरियम का मेंटनेंस लोक निर्माण विभाग करेगा।

हो सकेंगे हर तरह के कार्यक्रम

ऑडिटोरियम में एकेडमिक इवेंट्स, सेमिनार, वर्कशाॅप के अलावा कल्चरल इवेंट्स भी हो सकेंगे। ड्रामा, सिंगिंग जैसे इवेंट्स को ध्यान में रखकर यहां लाइट्स और म्यूजिक सिस्टम की भी बेहतर व्यवस्था की गई है। कार्यक्रम की आवाज आखिरी व्यक्ति तक पहुंचे इस बात को ध्यान में रखकर लास्ट रो तक साउंड सिस्टम लगाया गया है। ऑडिटोरियम में एक रो में 12 से 14 लग्जरी सीट लगाई गई हैं। सभी सीटों के पीछे अच्छा गैप दिया गया है, ताकि लोग आसानी से आ-जा सकें।

दीवारों पर उकेरी राज्य की संस्कृति

ऑडिटोरियम के बाहरी और भीतरी दीवारों पर छत्तीसगढ़ की संस्कृति पर आधारित आदिवासी नृत्य, म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट्स बजाते कलाकार, भित्तीचित्र, और बस्तर की कलाकृतियां उकेरी गई हैं। यहां पद्यश्री तीजन बाई और शहीद वीरनारायण जैसे शख्सियतों की पेंटिंग भी उकेरी गई हैं।

खबरें और भी हैं...