पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • वर्कप्लेस पर हरासमेंट होने पर चुप रहने के बजाय तुरंत एफआईआर करें: आरके विज

वर्कप्लेस पर हरासमेंट होने पर चुप रहने के बजाय तुरंत एफआईआर करें: आरके विज

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रायपुर | छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की ओर से मंगलवार को लिंग संवेदीकरण और महिलाओं के साथ कार्यस्थल पर प्रताड़ना विषय पर वर्कशॉप आयोजित की गई। सिविल लाइंस स्थित न्यू सर्किट हाउस में हुए कार्यक्रम में साइबर एक्सपर्ट्स ने अधिनियम 2013 और साइबर क्राइम के बारे में जानकारी दी। वर्कशॉप में रायपुर, दुर्ग और बस्तर संभाग के 200 पुलिस ऑफिसर्स को ट्रेनिंग भी दी गई। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक आरके विज ने कानून के क्रियान्वयन, पालन और एफआईआर के बारे में जानकारी दी। उन्होंने महिलाओं के साथ वर्क प्लेस पर हरासमेंट या अन्य मामलों पर तुरंत एफआईआर दर्ज करने की बात पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि दुष्कर्म के मामलों में पुलिस को संवेदनशील होने की जरूरत है। उन्होंने हरासमेंट होने पर वुमंस को चुप रहने के बजाय आवाज उठाने के लिए अवेयर करने की बात भी कही। हर्षिता पांडेय ने कहा कि समाज को स्त्रियों के प्रति संवेदनशील होने की जरूरत है। इस मौके पर वीरेंद्र मिश्रा, अवनी बाहरी, सर्वेश पांडेय, निलिन चंदन, पीयूष छाबड़ा, डाॅ. रेखा मेश्राम, पद्‌मा चंद्राकर, खिलेश्वरी, ममता साहू सहित अन्य मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...