पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • प्रतिबंध के बाद भी पॉलीथिन का हो रहा उपयोग, नप नहीं कर रही कार्रवाई

प्रतिबंध के बाद भी पॉलीथिन का हो रहा उपयोग, नप नहीं कर रही कार्रवाई

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पॉलीथिन पर प्रतिबंध के बावजूद नगर में अमानक पाॅलीथिन का उपयोग धड़ल्ले से किया जा रहा हैं। किराना दुकानों से लेकर होटलों, ठेलों पर व्यवसाय करने वालों के यहां सर्वाधिक प्रयोग पाॅलीथिन का ही हो रहा हैं। इसके बावजूद नगर परिषद इस ओर ध्यान नहीं दे रही है। नगर में फल एवं सब्जी विक्रेता भी अमानक पाॅलीथिन का भरपूर उपयोग कर रहे हैं। प्रतिबंध होने के बावजूद अब तक नगर परिषद द्वारा किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं होने से बैखौफ इनका प्रयोग हो रहा है। अमानक पॉलीथिन के उपयोग पर प्रतिबंध होने के बावजूद इसका उपयोग होने से सर्वाधिक कचरा पॉलीथिन एवं डिस्पोजल का ही सड़कों पर बिखरा एवं नालियों में भरा दिखाई दे रहा हैं। जिसका असर मूक पशुओं की सेहत पर पड़ रहा हैं।

नगर परिषद द्वारा नगरीय निकाय चुनावों के बाद कार्रवाई की बात कही थी लेकिन चुनाव हुए 6 माह बीत गए हैं लेकिन अब तक इस प्रकार के पॉलीथिन की थैलियों के उपयोग पर प्रतिबंध नहीं लगाया गया। सड़कों पर पॉलीथिन के ढेर पर पशु जुगाली करते हुए आसानी से देखे जा सकते हैं। यदि अमानक पॉलीथिन पर प्रतिबंध लगा दिया जाए तो अनेक पशु जो कि पॉलीथिन खाने से समय के पहले मर जाते हैं उनको बचाया जा सकता हैं। उल्लेखनीय है कि पॉलीथिन के बजाए कागज के बैग का प्रयोग करने के लिए अब तक यहां किसी दुकानदार ने प्रतिबद्धता नहीं दिखाई हैं।

पॉलीथिन के ढेर पर इस प्रकार पशु बैठे रहते हैं।

खबरें और भी हैं...