पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • कांटा टोली, आजाद बस्ती, डोरंडा और बरियातू में भी मिले मरीज, विद्यानगर में कई लोग बुखार से पीड़ित

कांटा टोली, आजाद बस्ती, डोरंडा और बरियातू में भी मिले मरीज, विद्यानगर में कई लोग बुखार से पीड़ित

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
हिंदपीढ़ी में महामारी के रूप में चिकनगुनिया और डेंगू के फैलने के बाद दैनिक भास्कर की टीम ने शहर के विभिन्न मुहल्लों का जायजा लिया। कांटा टोली, आजाद बस्ती, डोरंडा, हरमू, विद्यानगर, मधुकम और बरियातू में जाकर सफाई की स्थिति और मरीजों की छानबीन की। हर इलाके में गंदगी की फैली हुई थी। कई घरों में लोग बीमार पड़े हैं। कुछ को डॉक्टरों ने वायरल बताया, जबकि कई की जांच में चिकनगुनिया-डेंगू निकला। हिंदपीढ़ी में तो स्वास्थ्य विभाग की ओर से कैंप लगाकर जांच की जा रही है। दवाएं दी जा रहीं हैं। नगर निगम की आेर से सफाई की जा रही है। दवाओं का छिड़काव किया जा रहा है, लेकिन शहर के इन इलाकों में न तो जांच कैंप लगा है और ना ही निगम की ओर से विशेष सफाई अभियान चलाया गया। स्थानीय निवासियों का कहना है कि शायद निगम और स्वास्थ्य विभाग को इस बात का इंतजार है कि महामारी फैले, तब विशेष अभियान चलाएंगे।

जितने लोग आ रहे हैं, उसमें आधे की ही जांच हो रही है

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जो कैंप लगाए जा रहे हैं, वहां सभी का जांच के लिए सैंपल नहीं लिया जा रहा है। आधे से अधिक लोगों को लौटा दिया जा रहा है। कैंप भी दो घंटे लेट से लग रहा है और जल्द खत्म हो रहा है, जिससे लोग इंतजार कर लौट जा रहे हैं। हलालखोर पंचायत भवन छोटा तालाब निजाम नगर में सदर अस्पताल की टीम को सुबह 11 बजे पहुंच जाना था। लेकिन, 2 घंटे विलंब से टीम पहुंची। पैथो टेक्निशयन 3 घंटा देरी से आए। तबतक करीब 300 मरीज में से 180 अपने-अपने घर चले गए। 120 को डॉ. अन्नू बॉबी ने देखा। लेकिन, ब्ल्ड सेंपल महज 28 लिए गए। पूछने पर मेडिकल टीम के प्रकाश अवस्थी ने बताया कि उनकी ही टीम मंथन कार्यालय के कैंप में थी। इसलिए, यहां आने में देरी हुई। मंथन युवा संस्थान में 25 मरीज में से 10 के ब्लड सैंपल, मिल्लत एकेडमी स्कूल में 140 मरीज में से 34 के सैंपल और अमन कम्युनिटी हॉल में करीब 150 में से 50 के ब्लड सैंपल लिए गए।

हिंदपीढ़ी में तो स्वास्थ्य विभाग की ओर से कैंप लगाकर जांच की जा रही है, दवाएं दी जा रहीं हैं

आजाद हिंद नगर : हरमू नदी से सटे इस मुहल्ले में बड़ी आबादी करती है। मुहल्ले के लोग घर का कचरा और सेप्टिक टैंक की पाइप नदी की ओर खोल कर छोड़ दिए हैं। तीन-चार घर में लोग बीमार हैं, लेकिन डॉक्टर ने वायरल बताया है। नदी का किनारा होने से यहां पानी भी जमा है।

मणिटोला डोरंडा

नगर निगम के वार्ड नंबर 49 स्थित मणिटोला के हजरत अली चौक निवासी मो. शाहिद 15 दिन पहले ही चिकनगुनिया के शिकार हुए हैं। इस इलाके के तीन लोग बुखार आने पर रिम्स की ओर से तसलीम महल में लगाए गए कैंप में ब्लड टेस्ट कराए, हालांकि उनका रिपोर्ट निगेटिव आया।

स्थिति : इलाके में गंदगी की अंबार है। जगह-जगह जलजमाव है। कई जगह सड़क पर कचरा का ढेर लगा हुआ है।

फॉगिंग बंद था, लेकिन 4 दिन पहले हुआ है। स्प्रे करा रहे हैं। सफाई कर्मी कम हैं, रिक्शा भी खराब होने से सफाई में परेशानी हो रही है। -जमीला खातून, पार्षद

मौलाना आजाद कॉलोनी

नगर निगम के वार्ड नंबर 12 स्थित लोआडीह स्थित मौलाना आजाद कॉलोनी में चिकनगुनिया धीरे-धीरे पैर पसार रही है। कॉलोनी के आईशा नगर की जिया खातून (7), अल्फिशा (7), अफसाना परवीन (25) और वसीम (20) चार-पांच दिनों से चिकनगुनिया से पीड़ित हैं।

स्थिति : कॉलोनी की सड़कों पर बने गड्ढे में जलजमाव। यहां भी कचरा पसरा हुआ है। यहां नियमित रूप से फॉगिंग भी नहीं हो रही है।

फॉगिंग दो महीने से बंद है। स्प्रे भी एक सप्ताह से नहीं हो रहा है। वैसे स्प्रे का असर भी नजर नहीं आता। महामारी हमारे वार्ड में भी फैल सकती है। -कुलभूषण डूंगडूंग, पार्षद

मधुकम, विद्यानगर में भी बुखार से पीड़ित हैं लोग

रांची | जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम की टीम सिर्फ हिंदपीढ़ी में लगी हुई है। जबकि, शहर के दूसरे क्षेत्रों की भी स्थिति खराब है। मधुकम, इरगू टोली और विद्यानगर में भी काफी घरों में लोगों की तबीयत खराब है। बुखार और जोड़ों में दर्द है। हालांकि, अभी तक मरीजों में चिकनगुनिया या डेंगू की पुष्टि नहीं हुई है। लगातार केस बढ़ने से लोग भी भयभीत हैं।

विद्यानगर

गंगा नगर- रोड नंबर 1, 2 और 3 में सड़क और नाली नहीं है। रोड पर जलजमाव है। रोड नंबर 3 में कुछ परिवार में बच्चों को बुखार था, इसलिए उन्होंने पिछले सप्ताह इसकी जांच कराई थी।

निकायों में सघन अभियान चलाने का निर्देश

रांची | राजधानी में चिकनगुनिया और डेंगू के लगातार मिल रहे मरीज मरीज के बाद सरकार की भी नींद खुली है। नगर विकास विभाग के सचिव अजय कुमार सिंह ने सभी शहरी निकायों के लिए निर्देश जारी किया है। उन्होंने सभी नगर निगम, नगर परिषद और नगर पंचायत के अधिकारियों को पत्र लिखकर सघन स्वच्छता अभियान चलाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि शहरों में मच्छर और गंदगी की वजह से चिकनगुनिया और डेंगू जैसी बीमारी फैलने की आशंका बनी हुई है।

खबरें और भी हैं...