पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • आवास बोर्ड की करोड़ों की जमीन हथियाने की थी तैयारी, बाउंड्री बनने से पहले खुलासा

आवास बोर्ड की करोड़ों की जमीन हथियाने की थी तैयारी, बाउंड्री बनने से पहले खुलासा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
राजधानी में जमीन को लेकर रोज-रोज हो रहीं हत्याओं और विवादों के बाद भी लोग चेत नहीं रहे हैं। ताजा मामला सहजानंद चौक के समीप स्थित झारखंड राज्य आवास बोर्ड की जमीन से जुड़ा है। दो दिन पहले चौक के सामने स्थित करोड़ों की जमीन पर अचानक नींव खुदाई शुरू हो गई। बाउंड्री के लिए ईंट और बालू भी गिरा दिए गए। चूंकि वहां आवास बोर्ड ने अपना बोर्ड लगा रखा है, इसलिए लोगों को लगा कि बोर्ड ही बाउंड्री करा रहा है। लेकिन, जब स्थानीय लोगों ने काम कर रहे मजदूर और कारीगर से पूछताछ की तो वे काम छोड़ भाग खड़े हुए।

लोगाों द्वारा सूचना दिए जाने के बाद पहुंचे बोर्ड के कार्यपालक अभियंता संजीव कुमार ने अरगोड़ा थाना पहुंच कर दीपक कुमार समेत दो अज्ञात पर प्राथमिकी दर्ज कराई। बता दें कि नींव खुदाई और बिल्डिंग मटेरियल गिराने का काम अचानक नहीं हुआ था। दो दिन तक यह सब चला, लेकिन जब बाउंड्री का काम शुरू होना था, तब अधिकारियों की नींद टूटी। वहीं चौक पर पुलिस की गाड़ी भी खड़ी रहती है, लेकिन सब अनजान बने रहे।

सूचना पर भी अमल नहीं

रांची| राजधानी में फिलहाल जमीन को लेकर जो हत्याएं हुईं और विवाद चल रहा है, उसकी सूचना स्पेशल ब्रांच ने नौ माह पहले पुलिस मुख्यालय को दे दी थी। अब जमीन को लेकर हत्याएं बढ़ीं तो मुख्यालय ने रिपोर्ट निकाली और कार्रवाई शुरू की। हाल में एक माह में जमीन विवाद को लेकर 6 गोलीकांड हुए, जिसमें चार लोगों की हत्याएं हुईं। अब पुलिस अपराधियों की सूची खंगाल रही है।

लोगों ने पूछताछ की तो भागने लगे काम कर रहे मजदूर
सहजानंद चौक के समीप स्थित झारखंड राज्य आवास बोर्ड की जमीन, जिसपर थी बाउंड्री करने की तैयारी।

4 लोगों पर आदिवासी जमीन हड़पने की प्राथमिकी
रांची | पंडरा ओपी में चार लोगों पर 2.90 एकड़ आदिवासी जमीन हड़पने की प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। बजरा मिश्रा कॉलोनी निवासी शनिचरवा मुंडा द्वारा दर्ज कराई गई प्राथमिकी में कहा गया है कि उनकी जमीन को शत्रुघ्न कुमार, सुजीत कुमार झा, सुनील कुमार झा और घनश्याम पांडेय ने सहयोगियों के साथ मिलकर जबरन हड़प ली है। जबकि यह उनकी खतियानी जमीन है। चारों पर धमकी देने का भी आरोप लगाया है।

छह माह पहले स्पेशल ब्रांच ने पुलिस मुख्यालय को बताया था- हत्याएं होंगी
स्पेशल ब्रांच ने रिपोर्ट में क्या कहा था : स्पेशल ब्रांच ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि रांची में जमीन कारोबार में माफियाओं की संख्या बढ़ रही है, इसलिए जमीन को लेकर हत्याएं बढ़ेंगी। लोग मुंह मांगी कीमत दे रहे हैं, माफिया को ज्यादा मुनाफा हो रहा है। राजधानी में ऐसे माफिया कहां सक्रिय हैं, इसकी सूची भी स्पेशल ब्रांच ने उपलब्ध कराई थी।

इन इलाकों में सक्रिय हैं जमीन माफिया
बरियातू : बरियातू थाना क्षेत्र में जेल में रहने के बाद भी कुख्यात अपराधी लवकुश शर्मा के गुर्गे जमीन को लेकर सक्रिय हैं। लवकुश शर्मा ने बरियातू में जमीन को लेकर पूर्व में लक्ष्मण स्वर्णकार की भी हत्या कराई थी।

तुपुदाना : तुपुदाना में गेंदा सिंह ने अपने रिश्तेदारों के नाम काफी जमीन खरीदी है। चंदाघासी जहां मार्च में जमीन को लेकर संजय साहू की हत्या हुई थी।

इन प्लाॅटों को हड़पने का आरोप
खाता संख्या 14, प्लाॅट संख्या 242 की 17 डिसमिल, प्लाॅट 252 की 16, प्लाॅट 241 की 16, प्लाॅट 240 की 12, प्लाॅट 254 की 70, प्लाॅट 237 की 40, प्लाॅट 238 की 30 डिसमिल, प्लाॅट नंबर 244 की 57 डिसमिल, प्लाॅट नंबर 250 की 20 डिसमिल, प्लाॅट संख्या 253 की 12 डिसमिल यानी कुल 2.90 एकड़ पर कब्जा किया गया है।

डोरंडा : यहां तबराक व इब्राहिम द्वारा तैयार भू-माफिया गिरोह सक्रिय है। इसमें नौशाद, लड्डू, चांद, जुबैद, इब्राहिम, शेरा, शमशाद, आनंद व सागीर धंधा कर रहे हैं।

रांची के आसपास में भी जमीन का हो रहा खेल
एसएसपी को आवेदन दिया फिर भी जमीन पर हो रहा है कब्जा
हटिया | एसएसपी कुलदीप द्विवेदी ने दो दिन पहले सभी थाने को जमीन के मामले की तह तक जाने का निर्देश दिया है। जो भी पीड़ित पक्ष है, उसकी बातों को अवश्य सुनने का फरमान जारी किया है। लेकिन, थाना में ठीक इसके विपरीत हो रहा है। मामला जगरनाथपुर थाना का हैं। नीचे हटिया निवासी शिवनाथ उरांव ने बताया कि उनके खानदान की कुल 3 एकड़ 82 डिसमिल जमीन टोनको रोड हटिया में है। अब जमीन पर कुछ लोग कब्जा करने जा रहे हैं। इसकी लिखित शिकायत थाना प्रभारी और एसएसपी को दिया, लेकिन कुछ नहीं हो रहा है। उल्टा थाना प्रभारी अनूप कर्मकार द्वारा उन्हें डांट कर भगा दिया। दूसरा पक्ष अब भी जमीन पर काम कर रहा है।

कांके थाने में मामले हैं दर्ज, पर आरोपी फरार
रांची | कांके थाना क्षेत्र के बुकरू में जमीन मामले को लेकर तीन अप्रैल को व्यवसायी मनोज कुमार की हत्या कर दी गई थी। यह थाना क्षेत्र में दिन-दहाड़े हत्या का पहला मामला था। लेकिन, इसके पूर्व भी जमीन कब्जाने के मामले दर्ज हैं, लेकिन इनमें से अधिकांश अभियुक्त फरार हैं।

ओरमांझी : इस थाने में इस वर्ष जमीन संबंधी एक मामला दर्ज हुआ है। जिसमें एक किसान ने रांची के व्यक्ति से पैसा लेकर उसे जमीन नहीं दी।

रातू : थाना प्रभारी ने बताया कि भू माफियाओं की सूची बनाई जा रही है।

खबरें और भी हैं...