पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • रावतभाटा, रामगंजमंडी और मोड़क में झमाझम बरसात, मौसम में ठंडक

रावतभाटा, रामगंजमंडी और मोड़क में झमाझम बरसात, मौसम में ठंडक

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शहर में दिनभर गर्मी और उमस से लोग परेशान रहे। शाम को लगभग आधे घंटे तक झमाझम बरसात हुई। जिससे मौसम में ठंडक आ गई। जल संसाधन विभाग के नियंत्रण कक्ष के अनुसार चंबल नदी पर बने सबसे बड़े गांधीसागर बांध का जलस्तर 1269.19 फीट बना हुआ था। जिसकी पूर्ण भराव क्षमता 1312 फीट है।

यहां अब तक कुल 47 एमएम बरसात दर्ज की जा चुकी है। राणा प्रताप सागर बांध का जलस्तर 1138.17 फीट बना हुआ था। इसकी पूर्ण भराव क्षमता 1157.50 फीट है। अब तक कुल 171.30 एमएम बरसात दर्ज की जा चुकी है। जवाहरसागर बांध का जलस्तर 972.70 फीट बना हुआ था। पिछले 24 घंटे में 11.20 एमएम बरसात दर्ज की गई। यहां अब तक 122.20 एमएम बरसात दर्ज की जा चुकी है। पनबिजलीघर से विद्युत उत्पादन बंद कर दिया गया है। कोटा बैराज का जलस्तर 852.30 फीट बना हुआ था। चारभुजा मौसम विज्ञान वैधशाला प्रभारी ज्योतिमिश्रा ने बताया कि शनिवार को अधिकतम तापमान बढ़कर 36.8 एवं न्यूनतम 27 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। लोग गर्मी और उमस से परेशान रहे।

सड़क पर फिसलन
पीपल्दा गांव में मुख्य रास्ते के सहारे निजी कम्पनी द्वारा पाइप डालने के लिए खोदे गए रास्ते की मिट्टी को सड़क पर डालने से बरसात के चलते फिसलन बढ़ गई, जिससे लोग मिट्टी में फिसलते रहे। खोदी गई नाली में एक वाहन के निकलते समय एक टायर उस स्थान में चले जाने से फूट गया। एक राहगीर को चोट भी लग गई। गांव के सोनू ने बताया कि खुदाई को खुला छोड़ा हुआ है। बरसात के चलते मिट्टी बह कर सड़क पर आ गई है जिससे फिसलन हो गई है।

रामगंजमंडी. शहर में शनिवार शाम को करीब 15 मिनट तक हुई तेज बारिश। पूरे दिन तेज उमस के बाद शाम को बरसात हुई। इससे मौसम में ठंडक घुल गई।

रावतभाटा। रावतभाटा में झमाझम बरसात हुई, लेकिन थोड़ी देर के लिए।

एक घंटे तेज बरसात
मोड़क स्टेशन . शनिवार को पूरे दिन तेज उमस के बाद शाम 6 बजे तेज बरसात एक घंटे तक हुई। बरसात से लोगों को तेज उमस और गर्मी से राहत मिली। खेतों में अंकुरित हो रही फसल को खासा लाभ हुआ। तेज बरसात का दौर एक घंटे बाद रुका। उसके बाद भी आसमान में काले बादल छाए रहे और तापमान में नमी हो जाने से लोगों को राहत मिली। बरसात के चलते ग्रामीण अंचल में रास्तों पर कीचड़ फैल गया। लोगों को निकलने में काफी परेशानी हुई।

मोड़क स्टेशन. कस्बे में बरसात के दौरान सड़क पर बहता पानी।

खबरें और भी हैं...