पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • ट्रक में 17 गोधे ठूंस बूचड़खाने ले जा रहे थे 3 तस्कर सादुलशहर में लोगों ने पकड़ा, एक गोवंश की मौत

ट्रक में 17 गोधे ठूंस बूचड़खाने ले जा रहे थे 3 तस्कर सादुलशहर में लोगों ने पकड़ा, एक गोवंश की मौत

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गोरक्षा दल ने शनिवार को अलसुबह सवा तीन बजे शहर के नजदीक गद्दरखेड़ा चौराहे पर अमेरिकन गोधों से भरा एक ट्रक पकड़ा। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने ट्रक जब्त कर लिया। ट्रक में 16 जीवित एवं एक गोधा मृत मिला। मौके से ट्रक चालक, खलासी एवं मालिक को गिरफ्तार कर लिया। प्रारंभिक पूछताछ में खुलासा हुआ है कि आरोपी इन सांडों को पंजाब से यूपी बूचड़खाने ले जा रहे थे। पकड़े गए आरोपी अरशद (35) पुत्र अब्दुल सत्तार निवासी गांव ललवाना थाना मन्नाथेर मुरादाबाद यूपी, विचित्र सिंह (32) पुत्र वीरसिंह मजबी सिख निवासी चंदेर अमृतसर, प्रभदीप सिंह (27) पुत्र सतनाम सिंह मेहरा सिख निवासी जंडेवाला अमृतसर पंजाब के खिलाफ धारा 3, 5/8, 9 राजस्थान गोवंशीय अधिनियम 1995 व पशु क्रूरता अधिनियम 1960 अधिनियम में केस दर्ज कर किया गया है। तीनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर दो दिन का पुलिस रिमांड लिया गया है।

भास्कर लाइव
इसी बीच गांव गद्दरखेड़ा के ग्रामीणों ने मांग की कि ये सांड वापस वहीं भेजे जाएं जहां से लाए गए हैं। विरोध जता रहे ग्रामीणों ने सांडों से लदे ट्रक के आगे मानव शृंखला बना ली। बाद में गोशाला पदाधिकारियों ने भी सांडों की सुपुर्दगी लेने से मन कर दिया। इस पर माहौल तनावपूर्ण हो गया। मामला बढ़ता देख पुलिस ने पुलिस लाइन श्रीगंगानगर से आरएसी का जाब्ता बुला लिया। बाद में एसडीएम प्रियंका तलाणियां ने तीनों पक्षों से समझाइश कर वार्ता की। इसमें आठ गोधे श्री गोशाला एवं आठ श्री मुरली मनोहर गोशाला में छोड़ने पर सहमति बनी। मृत गोधे का पशुपालन विभाग के डॉ. संदीप सैनी की देखरेख पोस्टमार्टम किया गया। बाद में उसे दफनवा दिया गया। दोपहर एक बजे मामला शांत हुआ।

ग्रामीणों ने भी गोवंश को सादुलशहर की ओर छोड़ा, प्रशासन को बताई पीड़ा

इस बीच ग्रामीणों ने गांव गद्दरखेड़ा एवं आसपास के गोधन को भी सादुलशहर की ओर हांक दिया, जो मुख्य सड़क से अंदर पहुंच गए। ग्रामीणों ने फिर चेतावनी दी कि पंजाब क्षेत्र के लोग आए दिन अवैध रूप से गोधों को राज्य की सीमा में छोड़ जाते हैं। इससे सबसे सीमा के गांव गद्दरखेड़ा व आसपास काफी नुकसान होता है। ग्रामीणों काम छोड़कर दिन-रात पशुओं से खेतों की रखवाली करनी पड़ती है।

गोशाला पदाधिकारियों का तर्क था- यहां व्यवस्था बिगड़ेगी
इससे पहले पुलिस ने ट्रक को श्रीगोशाला परिसर में लाकर खड़ा कर दिया। पुलिस एवं प्रशासन ने जब इन गोधों को गोशाला की सुपुर्दगी की बात कही तो पदाधिकारियों ने गोधे यह कहकर उतरवाने से मना कर दिया कि यहां व्यवस्था नहीं है। अमेरिकन गोधे गोशाला की व्यवस्था बिगाड़ देंगे। ग्रामीणों ने भी गोशाला पदाधिकारियों का साथ दिया। ग्रामीणों ने कहा कि गोधे जहां से लाए गए हैंं। वहीं भिजवाए जाएं। बाद में एसडीएम के हस्तक्षेप पर हुई वार्ता में तहसीलदार प्रभजोत सिंह गिल, सीआई बलराज सिंह मान, व्यापार मंडल के अध्यक्ष संदीप सिंगला एवं ओम सरदारशहरिया, उपाध्यक्ष केवल बाघला, पूर्व कोषाध्यक्ष रतनलाल गोयल, प्रेम बंसल, गोशाला अध्यक्ष विजय गोयल, सचिव अरविंद मिड्ढ़ा, जल उपयोक्ता समिति के अध्यक्ष बीकर सिंह, गुरसेवक सिंह बराड़, बलजिंद्र सिंह, पंच जसविंद्र सिंह, अमनदीप सिंह सहित काफी संख्या में पुलिस जाब्ता तैनात किया गया।

सभी अमेरिकन गोधे, गोशाला पदाधिकारियों ने बाड़े में रखने से मना किया तो भड़के गद्दरखेड़ा के लोग, मानव शृंखला बनाकर जताया विरोध, आखिर रखने पर माने गोशाला संचालक
सादुलशहर. गोधे गोशाला में रखने को लेकर अफसर से बात करते लोग व सड़क पर गोधे।

खबरें और भी हैं...