पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • बैंक ऑफ इंडिया मकराेनिया के एटीएम से निकला 2 हजार रुपए का नकली नोट, प्रबंधन सीसीटीवी फुटेज देखकर पता लगाएगा कि किसने किए अपलोड

बैंक ऑफ इंडिया मकराेनिया के एटीएम से निकला 2 हजार रुपए का नकली नोट, प्रबंधन सीसीटीवी फुटेज देखकर पता लगाएगा कि किसने किए अपलोड

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सरकार की नोटबंदी के बाद शुरू किए गए 2000 के नोट अगर नकली निकल जाएं तो आपकी मुश्किलें और भी बढ़ जाएंगी। ऐसा ही एक घटना सागर के मकरोनिया कृष्णानगर में रहने वाले अनिल कुमार कुर्मी के साथ हुई। उन्होंने मकरोनिया के पैराडाइज स्थित एटीएम से 10,000 रुपए निकाले, जिसमें एक 2000 रुपए का नोट नकली निकला। मामले की शिकायत बैंक ऑफ इंडिया की मेन ब्रांच में की गई है, लेकिन बैंक ने बुधवार को एटीएम के फुटेज देखकर ही आगे की कार्रवाई करने के लिए कहा है।

अनिल ने बताया कि सुबह 11.55 पर बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम पर गया था। जहां उसने रुपए निकाले और एक नोट की प्रिंटिंग काफी धुंधली थी। उसका कागज भी आम नोट से मोटा लग रहा था। तुरंत ही उसने उसकी सूचना मकरोनिया के बैंक ऑफ इंडिया के ब्रांच में दी, लेकिन उसे राधा तिराहा स्थित मुख्य शाखा भेज दिया। इस दौरान बैंक कर्मचारियों ने अपने कर्मचारियों से पूछताछ भी की है कि आखिर बैंक में यह नकली नोट आया कहां से?

अनिल ने बताया कि बैंक में तुरंत ही उन कर्मचारियों को बुलाया गया, जो मशीन में नोट डालने के लिए जाते हैं। उनसे कहा कि बैंक से सभी नोट चैक होकर जाते हैं और नोट आप लोगों भी एटीएम में डालने के लिए जाते हैं। हालांकि बाद में यह कहकर रवाना कर दिया कि बुधवार को एटीएम के फुटेज चैक करेंगे कि कहीं यह नोट वह (अनिल) खुद लेकर तो नहीं आ गया है।

सागर. एटीएम मशीन से निकला नकली 2000 रुपए का नोट दिखाता अनिल।

उज्जैन में कुछ दिन पहले ही पकड़े गए, नकली नए नोट

4 अगस्त को ही उज्जैन पुलिस ने 2 लाख 17 हजार 600 रुपए के नकली नोटों के साथ राम सनोढ़िया उर्फ सिसौदिया निवासी सिवनी को पकड़ा था। आरोपी एमकाॅम. पास पेशे से एकाउंटेंट है। नाबालिग की मदद से बाजार में नकली नोट चलाता था। आरोपी बैग में ही प्रिंटर लेकर चलता था। जितनी जरूरत होती, उतने नकली नोट छाप लेता। भोजनालय पर आरोपी ने नाबालिग को नोट चलाने भेजा था। लेकिन संचालक द्वारा नकली नोट पहचान लेने से दोनों पकड़े गए। पुलिस के मुताबिक ए-4 साइज के कागज पर असली नोट की दोनों तरफ से कलर प्रिंट निकालता। इसके बाद उसे आपस में चिपका देता था। कागज के बीच में हरे रंग का धागा भी लगा देता, ताकि नोट असली दिखाई दे। नकली नोटों को खफाने के लिए छोटे शहरों पर टारगेट किया जा रहा है।

भास्कर सतर्क ऐसे पहचाने असली नोट

दो हजार के नोट के आगे की ओर सी थ्रू रजिस्टर में दो हजार रुपए लिखे हैं, महात्मा गांधी के दाएं ओर देवनागरी भाषा में दो हजार रुपए लिखा है, इसमें रुपए का नया साइन है। महात्मा गांधी की तस्वीर नोट के बीच में बनी हुई है। नोट को लाइट में देखने पर सफेद रंग वाली जगह पर महात्मा गांधी का चित्र देखा जा सकता है। इसके अलावा इलेक्ट्रोटाइप वाटरमार्क भी है। नोट के बाएं ओर माइक्रो लेटर्स में आरबीआई और दो हजार लिखा गया है। नोट में सिक्युरिटी थ्रेड दिया गया है। नोट को थोड़ा टेढ़ा करके देखने पर थ्रेड का रंग हरे से नीला बदलता है।

खबरें और भी हैं...