पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सरकारी खरीद: 84 हजार ने कराया पंजीयन, सत्यापन सिर्फ 36 हजार का

सरकारी खरीद: 84 हजार ने कराया पंजीयन, सत्यापन सिर्फ 36 हजार का

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शुरुआत में औसत यह था कि प्रति तहसीलदार दिन भर में महज 200 किसानों का सत्यापन ही कर रहे थे। 31 मार्च को जिले में सत्यापन की स्थिति मात्र 9 हजार थी। 4 अप्रैल को बढ़कर यह 26 हजार हो गई तो 5 अप्रैल को यह 36 हजार 104 पर पहुंच गई। यानी अब औसतन रोजाना प्रति तहसीलदार 900 किसानों का सत्यापन कर रहे हैं। इस स्थिति में भी 3 दिन में 30 हजार और किसानों का सत्यापन हो जाएगा तब भी सत्यापन की संख्या 66 हजार ही पहुंचेगी। ऐसे में यदि किसान शेष रहे और वे समर्थन मूल्य पर चना, मसूर नहीं बेच पाए तो दोषी कौन होगा? इसका जवाब किसी के पास नहीं है।

इधर, 10 हजार मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी, 50 लाख का पेमेंट भी हुआ
सागर | 26 मार्च से शुरु हुई समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी प्रक्रिया के तहत जिले के 123 में से 94 केंद्रों पर खरीदी की प्रक्रिया शुरु हो गई है। इन केंद्रों पर अब तक 10 हजार 744 मीट्रिक टन गेहूं की खरीदारी की जा चुकी है। इसकी कुल राशि 1864 लाख रुपए बनती है। इसमें से 50 लाख रुपए की राशि भी किसानों के खातों में पहुंचा दी गई है।

तीन दिन में सभी का सत्यापन हो जाएगा

Ãसत्यापन के काम में अब काफी तेजी आ गई है। 8 अप्रैल तक सत्यापन किया जाना है। हम शतप्रतिशत किसानों का सत्यापन करा लेंगे। ऐसे में किसी को भी परेशान नहीं होना पड़ेगा। - राजेंद्र सिंह, नोडल अधिकारी, समर्थन मूल्य खरीदी प्रक्रिया

खबरें और भी हैं...