पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • मोटर व्हीकल एक्ट में संशोधन, विरोध में ड्राइवरों ने दोपहर तक नहीं चलाई बसें

मोटर व्हीकल एक्ट में संशोधन, विरोध में ड्राइवरों ने दोपहर तक नहीं चलाई बसें

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बस स्टैंड पर मंगलवार को दोपहर तक बस संचालकों की हड़ताल रही

भास्कर संवाददाता | सीहोर

बस स्टैंड पर मंगलवार को दोपहर तक बस संचालकों की हड़ताल रही। इससे कई लोग परेशान होते रहे। बस स्टैंड पर ड्राइवर, कंडक्टरों ने केंद्र सरकार द्वारा लाए जाने वाले व्हीकल अधिनियम संशोधन विधेयक के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

भारतीय मजदूर केंद्र (सीटू) के जिला संयोजक राजीव कुमार गुप्ता ने बताया कि व्हीकल अधिनियम संशोधन के माध्यम से केंद्र सरकार मोटर मालिकों, स्पेयर पार्ट विक्रेताओं, कंडक्टरों, ड्राइवरों को पूरी तरह बर्बाद करने की तैयारी में हैं।

इस विधेयक के पास होने पर वर्तमान बस मालिकों का स्थान बढ़े उद्योग पति भारत में ओला और उबर की तरह बसों का संचालन करेंगे। उन्होंने कहा की बड़ी कंपनियों की वर्कशॉप पर ब्रांडेड स्पेयर पार्ट्स ही के उपयोग के लिए वाहन मालिक बाध्य होंगे। सभी ड्राइविंग लाइसेंस धारियों के लायसेंस निरस्त होंगे। उन्हें दोबारा कंप्यूटर पर परीक्षा देकर लायसेंस बनवाना होगा।

उन्होंने कहा कि छोटी-छोटी गलतियों पर ड्राइवरों पर भारी जुर्माना और सजा का प्रावधान भी इस विधेयक में किए गए हैं। इस प्रकार वाहन मालिकों, स्पेयर पार्ट विक्रेताओं, ड्राइवर एवं कंडक्टरों के रोजगार छिन जाएंगे। इस मौके पर प्रदर्शन करने वालों में विनय वर्मा, मुकेश बागरी, मुश्ताक भाई, मनोहरलाल कंवर, बालकृष्णा प्रजापति, गिरधारी माहेश्वरी, देवेंद्र बैरागी, कुदरत खां, संजू ड्राइवर आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...