पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • कहार समाज ने रैली निकाल आरक्षण मांगा, गौरव यात्रा के विरोध की चेतावनी दी

कहार समाज ने रैली निकाल आरक्षण मांगा, गौरव यात्रा के विरोध की चेतावनी दी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कहार समाज ने रैली निकाल आरक्षण मांगा, गौरव यात्रा के विरोध की चेतावनी दी

भास्कर संवाददाता | शाहपुरा

राजस्थान कहार, कीर, केवट, मेहरा, भोई, कश्यप समाज आरक्षण संघर्ष समिति की ओर से राजस्थान बंद के आह्वान के तहत मंगलवार को कस्बा बंद रहा। कहार समाज की आरक्षण रैली श्रीराम मंदिर से शुरू हुई, जो कलिंजरी गेट, बालाजी की छतरी, सदर बाजार, रामद्वारा होकर एसडीएम कार्यालय पहुंची। यहां मुख्यमंत्री के नाम तहसीलदार अशोक कुमार सोनी को ज्ञापन दिया। कहार आरक्षण संघर्ष समिति के जिला अध्यक्ष राजू लाल कहार एवं राम लाल कहार ने बताया कि राजस्थान के कांग्रेस व भाजपा सरकार ने समाज की हमेशा उपेक्षा की है। इससे समाज पिछड़ा है। समाज के लोगों के पास रोजी-रोटी के साधन नहीं हैं। उन्हें नदी व तालाबों की पेटा काश्त भूमि पर काम करना पड़ता है। कहार आरक्षण संघर्ष समिति के जिला उपाध्यक्ष देवी कहार एवं महामंत्री पप्पू लाल उर्फ भंवर लाल कहार ने कहा कि कई वर्षों बाद मुख्यमंत्री उस वादे को भूल गई जिससे समाज आंदोलन की राह पर चल पड़ा है। कहार आरक्षण संघर्ष समिति के तहसील अध्यक्ष प्रहलाद कहार ने कहा कि कहार वसुंधरा सरकार को समाज का एक मैसेज देकर चेतावनी दी है। कहार महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष दुर्गा लाल कहार ने कहा कि वसुंधरा सरकार कहार आरक्षण संघर्ष समिति के पदाधिकारियों से वार्ता नहीं करती है तो पूरे राजस्थान में कहार, केवट, कीर, मेहरा, कश्यप, भोई समाज द्वारा राजस्थान गौरव यात्रा का विरोध किया जाएगा।

कहार आरक्षण संघर्ष समिति के आह्वान पर बंद रहा शाहपुरा, मुख्यमंत्री के नाम तहसीलदार को दिए ज्ञापन में कहा-सरकार ने मांगें नहीं मानी तो विरोध करेंगे

भाजपा व कांग्रेस सरकारों ने समाज की अनदेखी की: कहार

अखिल भारतीय कहार समाज के चौखला जिलाध्यक्ष देवीलाल कहार ने बताया कि 8 वर्षों से समाज की अनदेखी की जा रही है। इसलिए समाज को राजस्थान बंद के लिए विवश होना पड़ा। इस दौरान शाहपुरा तहसील के चौखला के कोतवाल धन्नालाल कहार, कनेछन कलां के रामदेव कहार, ढीकोला के युगल प्रसाद कहार, मुशी के पोल्लू कहार, सांखलिया के चंद्रा कहार, रामपुरा बस्ती के रामचंद्र कहार, कैलाश कहार, गोविंद कहार, महावीर कहार, दुर्गा लाल कहार, सोहन कहार, कल्लू कहार, भीम कहार, गोपाल कहार, प्रेम कहार, हीरा कहार, बालू कहार, मुकेश कहार, गणेश कहार, नंदलाल कहार, नारायण कहार, राजू कहार, पप्पू कहार, मिट्ठूलाल कहार,भैरू कहार आदि मौजूद थे। डीएसपी दिनेश यादव, थाना अधिकारी देरावर सिंह भाटी व जाब्ता तैनात रहा।

कहार केवट बोर्ड का गठन किया जाए

समाज को एसटी सूची में आरक्षण दिलाने, कहार केवट बोर्ड का गठन करने, नदी व तालाबों की पेटा काश्त भूमि के खातेदारी का अधिकार देने, प्रदेश के प्रत्येक जिले में छात्रावास के लिए निशुल्क भूमि का आवंटन करने, प्रदेश में समाज के लोगों को 1 फीसदी राजनीतिक अधिकार देने, समाज के युवाओं को रोजगार देने की मांगें प्रमुख हैं।

खबरें और भी हैं...