पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • गांव वाले कंधे पर उठा लाए मोटर, एडीएम से बोले साहब, कब सही होगी बोरिंग

गांव वाले कंधे पर उठा लाए मोटर, एडीएम से बोले-साहब, कब सही होगी बोरिंग

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पूरी गर्मी पानी के लिए परेशान रहे अब पिछले तीन महीने से फिर से पानी की परेशानी हो रही है। तीन बार इसी मोटर को सरपंच द्वारा डलवा दिया गया पर दलित बस्ती में लोगों को पानी नहीं मिल रहा। इस परेशानी से तंग आकर हमने सोचा कि मोटर को साहब के पास ही ले चलते हैं तभी सुधार होगा। इस पर शिकायत कर रहे ग्राम ठर्रा के ग्रामीणों को एडीएम अशोक चौहान ने कार्रवाई का आश्वासन देकर उन्हें रवाना किया।

मंगलवार को जनसुनवाई में ग्राम ठर्रा के लोगों ने आवेदन देकर कहा कि वह पानी की शिकायत लेकर पहले भी आए थे पर कोई सुनवाई नहीं हुई इसके बाद गांव में पानी की खराब मोटर को बार बार डलवाया जा रहा है जो पानी देने में सक्षम नहीं हैं। सरपंच से कई बार कह चुके पर कोई सुनता नहीं इसलिए हम अपनी परेशानी दिखाने की कौन सी मोटर है और उससे हम किस तरह से परेशान हैं।यह दिखाएं इसलिए गांव से कंधे पर इसे रखकर यहां तक लाए है। इस पर एडीएम अशोक चौहान ने पीएचई का मामले की जांच पड़ताल के निर्देश दिए।

एस पी कार्यालय में पहुंचे कोलारस निवासी परमाल और संजय ने आरोप लगाए कि बिजली विभाग में नौकरी देने के नाम पर उनसे 40 हजार रुपए ठग लिए। पिछोर निवासी युवकों ने उत्तम और सुरेंद्र नामक युवकों पर यह आरोप लगाए।कहा कि 15 दिन में नौकरी देने की बात कही थी,पर अब तक नौकरी नहीं मिली। पैसे वापस मांगे तो वह इंकार कर रहे है। इस पर सुनवाई कर रहे एडीशनल एस पी कमल मौर्य ने जांच का आश्वासन दिया।

ग्राम ठर्रा के ग्रामवासी 2 किमी दूर दूसरे गांव से भरकर लाते हैं पानी

जिस किसान की 4 साल पहले मौत हो गई, उसके नाम आरएईओ ने चढ़ा दी फसल, मुआवजा न मिलने से परेशान ग्रामीणों ने लगाए आवेदन

बदरवास विकासखंड के ग्राम बरखेड़ा खुर्द के किसानों ने आरोप लगाते हुए कहा कि खरीफ फसलों के बीमा में कंपनी और विभाग के आरएईओ ने धोखाधडी की है। आरएईओ ने धोखाधडी से गांव के 4 साल पहले मृतक हुए किसान लक्ष्मण आदिवासी के जाली दस्तखत कर उसके खेत में 2 किलो 600 ग्राम सोयाबीन होने की बात लिखी गई है। यह सरासर अन्याय है और इस एक गलती की वजह से सजा आरएईओ को मिलनी चाहिए जबकि ग्रामीणों की फसल बीमा का लाभ नहीं मिल पा रहा क्योंकि गांव में इस बार फसल उत्पादन हुआ ही नहीं है। ग्रामीणों के साथ आए मृतक के पुत्र समरथ का कहना था कि यह अकेले हमारे साथ अन्याय नहीं है पूरे गांव के साथ है। क्योंकि पिता जब स्वर्ग सिधार गए फिर धरती पर वह क्रॉप फसल पर सिग्नेचर करने कब आ गए । मेरे पिता तो अंगूठा लगाते थे वह लक्ष्मण नाम कैसे लिख लिया। इस पर पूरे मामले की जांच के लिए एसडीएम कोलारस को निर्देश एडीएम अशोक चौहान ने दिए है।

बेटी से छेड़छाड़ की, जेल से लौटने के ब ाद फिर करने लगा परेशान

ग्रामीण क्षेत्र से शिकायत लेकर आए आवेदक परिवर्तित नाम बल्लू ने एडीएम को बताया कि वह अपनी बेटी के साथ आया है जिससे बीते दिनों गांव के युवक ने शौच जाते समय छेड़छाड़ कर दी थी। इस पर बेटी ने भाई को आवाज दी तो युवक को उसने पुलिस से पकड़वा दिया था। जिससे वह जेल पहुंचा और जमानत पर छूटा। अब यह आरोपी बेटी का रास्ता रोककर कहता है कि में तेरे साथ गंदा काम करुंगा। बेटी इससे परेशान है कुछ करो साहब। इस पर एडीएम ने आवेदन एस पी को मार्क कर दिया।

अतिथि शिक्षक नियुक्त करने में हुई घपलेबाजी,प|ी की जगह दूसरे को कर दिया नियुक्त

शासकीय माध्यमिक विद्यालय सतनवाड़ा में गत वर्ष मेरी प|ी संस्कृत विषय से अध्यापन कार्य करा रही थी। इस बार अतिथियों के लिए निकली ऑनलाइन प्रक्रिया में भी आवेदन किया पर मेरी प|ी रचना शर्मा की जगह किसी दूसरे को नियुक्त कर दिया गया। आवेदक बसंत शर्मा ने शासकीय उमावि क्रमांक 2 संकुल प्राचार्य ए के रोहित पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रक्रिया पूरी करने के बाद भी जान बूझकर प्राचार्य ने आवेदन कंप्यूटर में दर्ज नहीं कराया जिससे उन्हें बाहर का रास्ता देखना पड़ा। इस पर आवेदन एडीएम ने सहायक संचालक शिक्षा को जांच करने सौंपा।

उम्र हो गई 63 की और आज भी नौकरी कर रही है आंगनबाड़ी कार्यकर्ता

मनपुरा के ग्राम पिपरोनिया से आई सोनम राजा ने अपनी शिकायत करते हुए एडीएम से कहा कि उसके गांव में पदस्थ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की उम्र 63 वर्ष की हो गई है और इसका सबूत यह वोटर कार्ड है। जिसमें वह 63 की हो गई है जबकि आधार में दर्ज रिकॉर्ड में उसका जन्म 1975 का है यह सरासर धांधली है इसलिए उसे नौकरी से हटाया जाए। इस शिकायत पर एडीएम ने आवेदन कार्रवाई के लिए महिला बाल विकास विभाग को सौंप दिया।

खबरें और भी हैं...