• Hindi News
  • National
  • 500 रुपए में कॉपी फिर से जंचवा सकेंगे कॉलेज विद्यार्थी

500 रुपए में कॉपी फिर से जंचवा सकेंगे कॉलेज विद्यार्थी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | शुजालपुर

वे विद्यार्थी जो कॉलेजों में वार्षिक पद्धति से पढ़ाई कर रहे हैं और रिजल्ट बिगड़ गया है या प्राप्त अंकों से संतुष्ट नहीं हैं, तो वे अपनी उत्तर पुस्तिकाओंं का पुनर्मूल्यांकन यानी री-वेल्युएशन करा सकेंगे। इसके लिए प्रति उत्तर पुस्तिका 500 रुपए चार्ज लगेगा।

यह आदेश उच्च शिक्षा विभाग के ओएसडी ने सभी विश्वविद्यालयों को जारी कर दिए हैं। इसका लाभ वर्तमान में सिर्फ वे विद्यार्थी पा सकेंगे जिन्होंने इसी साल प्रथम वर्ष की परीक्षा दी है और वार्षिक प्रणाली का पहले साल का रिजल्ट आएगा। वार्षिक पद्धति पिछले साल से ही पुन: लागू हुई है। हालांकि, आगामी वर्षों में इसका लाभ बड़े पैमाने पर विद्यार्थी उठाकर अपनी शंकाएं दूर कर सकेंगे।

विद्यार्थियों को रिजल्ट आने के 15 दिन के भीतर पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन करना होगा। ये आवेदन विश्वविद्यालय में ऑनलाइन होगा। इसके निर्देश जारी हो गए हैं। इस बार हुए विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन की यूजी परीक्षाओंं में कुछ दिन पूर्व ही बीकॉम का रिजल्ट आया है। उसके प्रभावित विद्यार्थी इसका लाभ ले सकते हैं।

यूनिवर्सिटी बुलवाया जाएगा

कोई भी छात्र यूजी के बीए, बीकाॅम, बीएससी के विद्यार्थियों को परीक्षा परिणाम के 15 दिन के भीतर यह आवेदन करेगा, तो दो लोग कॉपी की जांच करेंगे। छात्र को विश्वविद्यालय भी बुलवाया जाएगा। जहां छात्र काॅपी भी देख सकता है। शुल्क 500 रुपए तय किया है।

स्क्रूटनी में औसत अंक मिलेंगे
री-वेल्युएशन के साथ स्क्रूटनी की व्यवस्था कर दी गई है। इसका अर्थ यह है जिन विद्यार्थियों को पहली बार जांच में जो अंक मिले हैं और यदि दूसरी बार की जांच में अंकों में अंतर आता है, तो दोनों का अौसत निकालकर अंक दिए जाएंगे। केवल एक मूल्यांकनकर्ता से प्रदत्त अंक को मान्यता नहीं मिलेगी। इसके अलावा जो विद्यार्थी पूर्व से सेमेस्टर सिस्टम में हैं, उन्हें इस नई री-वेल्यूएशन और स्क्रूटनी की सुविधा का लाभ नहीं मिलेगा। वे पूर्ववत केवल री-टोटलिंग करा सकेंगे।

खबरें और भी हैं...