पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • शेखावाटी में कांग्रेस की मजबूती देख राहुल गांधी की सभा चाहती है पार्टी

शेखावाटी में कांग्रेस की मजबूती देख राहुल गांधी की सभा चाहती है पार्टी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का शेखावाटी दौरा 20 अगस्त के बाद हो सकता है। फिलहाल वे 11 अगस्त को जयपुर में होने वाले कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल होने के लिए एक दिवसीय दौरे पर आएंगे। विधानसभा चुनावों का शंखनाद सीकर की सभा से ही होगा। शेखावाटी से होने वाली चुनावी सभा की शुरुआत को प्रदेश के लिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है। क्योंकि आलाकमान प्रदेश के अन्य इलाकों की तुलना शेखावाटी में कांग्रेस को ज्यादा मजबूत मान रहा है। दूसरा बड़ा कारण पिछले दिनों जयपुर में हुई पीएम नरेंद्र मोदी की सभा और सितंबर में झुंझुनूं में प्रस्तावित कार्यक्रम को माना जा रहा है। भाजपा की तर्ज पर कांग्रेस भी चुनावों के दौरान धार्मिक स्थलों पर फोकस कर रही है। राहुल के शेखावाटी दौरे में प्रमुख तौर पर खाटूश्यामजी और सालासर दर्जन को जोड़ा जा रहा है। ताकि आमजन के बीच हिंदुत्व चेहरा पेश किया जा सके। पिछले दिनों धोद में हुए मेरा बूथ मेरा गौरव कार्यक्रम में प्रदेशाध्यक्ष सहित प्रदेश स्तरीय कई नेता शामिल हुए। मेरा बूथ मेरा गौरव के तहत यह जिले का सबसे बड़ा कार्यक्रम था। कार्यक्रम के दौरान वक्ताओं ने आग्रह किया कि सीकर में राहुल गांधी की सभा करवाई जाए। इसके बाद से आलाकमान और प्रदेश स्तरीय नेताओं ने इस पर ज्यादा फोकस किया।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की सीकर में सभा 20 अगस्त के बाद होने की संभावना

कांग्रेस राहुल गांधी की राजनैतिक सभा सीकर में क्यों चाहती है, इसके तीन कारणों से समझिए

शेखावाटी में मजबूत मान रही है कांग्रेस | प्रदेश के अन्य जिलो की तुलना कांग्रेस शेखावाटी में अपनी मजबूत स्थिति मानकर चल रही है। कांग्रेसी नेता भाजपा द्वारा करवाए गए उस सर्वे का हवाला दे रहे हैं। जिसमें 100 भाजपा विधायकों के टिकट काटे जाने का दावा किया जा रहा है। क्योंकि इनमें शेखावाटी से भी बड़ी संख्या में विधायक और राज्यमंत्री शामिल हैं।

पीएम मोदी की सभा का जवाब | कांग्रेस राहुल की सभा करवाकर पीएम मोदी द्वारा की गई जयपुर सभा व प्रस्तावित झुंझुनूं सभा का जवाब देना चाह रही है। पीएम मोदी 7 जुलाई को जयपुर में योजनाओं के लाभार्थियों से रूबरू हुए। 11 सितंबर को झुंझुनूं में मोदी का कार्यक्रम प्रस्तावित है। ऐसे में कांग्रेस जयपुर-झुंझुनूं के बीच सीकर पर ज्यादा फोकस कर रही है।

प्रदेश के जातिगत वोट बैंक पर फोकस | शेखावाटी जाट बाहुल्य इलाका है। राजनीतिक दल शेखावाटी को बदलाव की धरती मानते हैं। यहां की सभा से कांग्रेस प्रदेश के भरतपुर, गंगानगर, हनुमानगढ़, बीकानेर, नागौर, बाड़मेर, चूरू व झुंझुनूं सहित10 जाट बाहुल्य जिलों में मैसेज देना चाहती है। ताकि यहां के जातिगत वोट बैंक को भुनाया जा सके।

पायलट-गहलोत की खेमेबाजी का जवाब | कांग्रेसी नेता सीएम के चेहरे को लेकर बार-बार बयान दे रहे हैं कि जीत के बाद यह फैसला राहुल गांधी ही करेंगे। इसके बावजूद कार्यकर्ताओं और पदाधिकारी असमंजस में है। खेमेबाजी पर अंकुश लगाने व एकजुटता दिखाने के लिए आलाकमान मारवाड़-मेवाड़ की बजाय शेखावाटी से चुनावी शंखनाद को तव्वजो दे रहा है।

खबरें और भी हैं...