• Hindi News
  • National
  • एबीवीपी ने जिला शिक्षा अधिकारी काे सौंपा ज्ञापन, ट्यूशन प्रवृत्ति पर रोक लगाने की मांग

एबीवीपी ने जिला शिक्षा अधिकारी काे सौंपा ज्ञापन, ट्यूशन प्रवृत्ति पर रोक लगाने की मांग

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने जिला शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन सौंप कर राजकीय सेवा में कार्यरत शिक्षकों के ट्यूशन प्रवृत्ति पर नियंत्रण एवं नशा मुक्ति अभियान चलाने की मांग की है।

नगर सहमंत्री हितेश राजपुरोहित एवं नाथूसिंह देवड़ा की अगुवाई में सौंपे गए ज्ञापन में बताया कि शिक्षा विभाग प्राईवेट ट्यूशन को शिक्षण व्यवस्था में एक बुराई है। ट्यूशन व्यवस्था में छात्रों की संख्या अधिक होने के कारण या अध्यापकों के अपने दायित्व को नहीं समझने के कारण ट्यूशन व्यवस्था अधिक पनप रही है। जिससे शिक्षक स्कूल शिक्षा पर कम ध्यान देकर ट्यूशन शिक्षा पर अधिक जोर दिया जा रहा है। जिले में ट्यूशन का व्यवसाय खुलेआम चल रहा है। कई बार स्कूल समय पर अध्यापन पूरा नहीं करवाया जाता है या जल्दबाजी में कोर्स पूरा किया जाता है। जो छात्र ट्यूशन नहीं आते है उनके साथ द्वेषभावना रखते हुए भेदभाव भी किया जाता है। इसमें मजबूरन छात्र को ट्यूशन जाना पड़ता है। माध्यमिक बीकानेर निदेशक के आदेश में अध्यापकों को उच्च माध्यमिक कक्षाओं के लिए दो छात्र एवं प्राथमिक कक्षाओं के लिए तीन छात्र को ट्यूशन कार्य करवाने की अनुज्ञा दी जाती है। इस मौके जिला विद्यालय प्रमुख भूरमल राजपुरोहित, चिराग प्रजापत, भावेश आर्य, विजयसिंह, राजू दिवेश कुमार ललित प्रजापत, संदीप माली आदि मौजूद रहे।

सिरोही. डीईओ को ज्ञापन देते एबीवीपी कार्यकर्ता।

खबरें और भी हैं...