पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • ट्रांसफार्मर पर था लाइनमैन, फिर भी चला दी सप्लाई, 15 मिनट झुलसा, मौत

ट्रांसफार्मर पर था लाइनमैन, फिर भी चला दी सप्लाई, 15 मिनट झुलसा, मौत

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शनिवार की सुबह 220 केवी पावर हाउस फाजिलपुर के एचपोल के ट्रांसफार्मर में खराबी आ गई, जिसे ठीक करने के लिए एसडीओ और जेई ने निगम के ही लाइनमैन को सूचना दी और बताया गया कि ब्रेकडाउन हो चुका है। ट्राॅली चढ़कर वह जंफर जोड़ने लगा, इसी दौरान लाइन में करंट आ गया। करंट ने लाइनमैन को चपेट में ले लिया और वह लाइन पर ही लटक गया। करीब 15 मिनट तक वह चिल्लाता रहा। धू-धू कर जल गया। इसके बाद करंट ने उसे दूर फेंक दिया। परिजन जब अस्पताल लेकर पहुंचे तो डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पोस्टर्माटम हाउस के बाहर यूनियन पदाधिकारियों और बिजलीकर्मी एकत्र हो गए। एप्लीकेशन लिखने को लेकर कर्मियों का पुलिस वालों में विवाद हो गया। बीच-बचाव करने के बाद मामला शांत हुआ।

उत्तरी हरियाणा बिजली वितरण निगम में आधा कार्य ठेकेदारों और आधा कार्य निगम के कर्मियों द्वारा किया जा रहा है। जिसके कारण भी कई स्थानों और प्वाइंटों पर तकनीकी बातों के आदान-प्रदान में कमी हो रही है। शनिवार को फाजिलपुर में हुई दुर्घटना का सही कारण तो पता नहीं चल पाया कि करंट आखिरकार किस तरह से लाइन में आ गया। 47 साल के सुखेंद्र सिंह उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल जिले के गांव भैंगा का रहने वाला था। जो 25 साल से बिजली निगम में स्थाई कर्मचारी था। वह 132 केवी पावर हाउस कॉलोनी फाजिलपुर के मकान रहता था।

सुखेंद्र सिंह का फाइल फोटो

एसडीओ, जेई की सूचना पर आया था लाइनमैन सुखेंद्र सिंह
सोनीपत . अस्पताल में लाइनमैन की मौत मामले को लेकर बिजली कर्मियों और पुलिस के बीच झड़क भी हो गई।

बेटा बोला- फोन आया था ब्रेक डाउन है कंप्लेंट अटेंड करें

सुखेंद्र सिंह के बेटे भगत सिंह ने बताया कि शनिवार की सुबह उसके पापा के पास फोन आया कि पावर हाउस फाजिलपुर में ब्रेक डाउन है। वह पहुंचकर कंप्लेंट को अटेंड करे। पलडा फीडर की चलने वाली बिजली से संबंधित एचपोल के ट्रांसफार्मर में गड़बड़ी थी। इससे पहले ही पावर हाउस के स्टाफ ने पीटीडब्ल्यू ले रखा था। उसके पिताजी अपनी ट्राॅली लेकर एचपोल का जियो स्विच काटकर जंफर जोड़ने लगे। इसी बीच लाइन में करंट आ गया। युवक ने बताया कि यह जानकारी उसे पिताजी के साथियों ने दी।

काफी देर तक चिल्लाया कोई नहीं आया बचाने को
दोषी होगा कार्रवाई की जाएगी
लाइन मैन के परिजनों के शिकायत आधार पर बिजली निगम के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज कर लिया गया है। मामले की छानबीन की जा रही शीघ्र संबंधित कर्मियों और अधिकारियों से पूछताछ की जाएगी। दोषी जो भी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।’ -दलबीर सिंह डांगी, एसएचओ, सदर थाना सोनीपत।

जांच के लिए कमेटी बनाई गई है
बिजली निगम द्वारा पूरे सुरक्षा उपकरणों के साथ ही लाइन पर जाने की इजाजत दी जाती है। हादसे का शिकार हुआ कर्मी निश्चित रूप से सुरक्षा उपकरणों की अनदेखी की होगी। जिसके कारण ही यह हादसा हुआ है। हालांकि जांच के लिए एक्सईएन मनिंदर सिंह के नेतृत्व में कमेटी बनाई गई है। कोई फैसला जांच के बाद ही लिया जा सकेगा।’-एसएल राय, एसई बिजली निगम, सोनीपत।

खबरें और भी हैं...