पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • आंधी बारिश से खेतों में फसलें खराब, मंडी में भीगी कृषि जिंसें 79 एलएनपी में गिरी बिजली, आगे 3 दिन ऐसा ही रहेगा मौसम

आंधी-बारिश से खेतों में फसलें खराब, मंडी में भीगी कृषि जिंसें 79 एलएनपी में गिरी बिजली, आगे 3 दिन ऐसा ही रहेगा मौसम

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जैतसर, 22 जीबी व घमंडिया सहित अनेक इलाकों में भी दिखा असर, बिजली गिरने से जले इलेक्ट्रॉनिक उपकरण

भास्कर संवाददाता| श्रीगंगानगर/सूरतगढ़

घमंडिया के 79 एलएनपी द्वितीय में गुरूवार रात बारिश के दौरान गुरुद्वारा परिसर में आसमानी बिजली गिर गई। इससे गुरुद्वारा साहिब व गांव में कई घरों के विद्युत उपकरण जल गए। गुरुद्वारा के हैड ग्रंथी बाबा अर्जुन सिंह ने बताया की रात मेघ गर्जना के बीच बिजली कड़क रही थी और हल्की बारिश हो रही थी। रात 12:05 बजे गुरुद्वारा साहिब में बरामदों के गेट में अचानक आसमानी बिजली गिर गई। इससे खंबे से आ रही विद्युत सप्लाई तार भी जल गई और गुरुद्वारा में फ्रिज, स्पीकर, पंखे, इन्वर्टर, बल्ब सहित विद्युत उपकरण जल गए। हैड ग्रंथी बाबा अर्जुनसिंह ने बताया, जहां बिजली गिरी, उसके चार कदम दूरी पर ही मैं चारपाई पर सो रहा था। गनीमत रही कि बाल-बाल बच गया। बिजली गिरते ही मेरी आंखों के सामने अंधेरा छा गया। एकाएक तेज गर्जना और रोशनी से मैं सहम गया और नाम सिमरन करने लगा। तब तक आसपास के लोग पहुंच गए थे। गांव में भी अनेक घरों में विद्युत उपकरण जले हैं। उधर, बेमौसम आंधी व बारिश होने से पकाव पर खेतों में खड़ी फसलों व काट कर खलिहानों में रखी फसलों में नुकसान से किसान चिंता में पड़ गए हैं। गुरुवार देर रात बदले मौसम ने किसानों की नींद उड़ा दी। अनेक किसानों ने सरसों, जौ व चने की फसलें काटकर खलिहानों में रखी हैं तो अनेक किसान अपनी फसलें बेचने को धानमंडी में बैठे हैं। कई जगह तेज आंधी से सरसों, चना व जौ की काटी गई फसलें उड़ गई तो कहीं, खलिहानों में निकाली फसलों के दाने उड़ गए। कई जगह बारिश के बीच तेज हवा से खेतों में खड़ी फसल गिर गई।

जिले में बीते दो दिन से चल रही थी हवाएं, अब शुरू हुआ बरसात-आंधी का दौर
रावला व 22 जीबी तथा सूरतगढ़ एरिया में बारिश से गलियां जलमग्न हो गईं। लोग परेशान हुए। हालांकि मौसम बदलने से गर्मी से राहत मिली है लेकिन किसानों को नुकसान ज्यादा हुआ है। गुरुवार रात रामसिंहपुर, सूरतगढ़, पदमपुर व विजयनगर आदि में हल्की से तेज बारिश हुई वहीं, शुक्रवार को भी सुबह मौसम खराब रहा। सवा 10 बजे सूरतगढ़ में तेज बारिश शुरू हो गई जो करीब 20 मिनट तक चली। शहर में सड़कों के किनारों पर पानी जमा हो गया व सीवरेज के लिए खोदे गड्ढे पानी से भर जाने से लोगों को दिक्कत हुई। नई धानमंडी में शैडों के बाहर व्यापारियों द्वारा क्रय किए जौ व सरसों की बोरियां भी हल्की सी भीग गई। जो किसान मंडी में बेचने के लिए सरसों, जौ, चना आदि लेकर आए थे, उन्हें तिरपाल आदि से ढककर बचाया।

रावलामंडी| केशव कॉलोनी में बरसात के बाद गलियों में पसरा पानी-कीचड़

गुरूवार आधी रात के बाद मेघ गर्जना के बीच बूंदाबांदी हुई। शुक्रवार सुबह 8 बजे फिर मेघ गर्जना से किसान घबरा उठे लेकिन इसका असर केवल कस्बे पर ही देखा गया है। रावलामंडी में सुबह 8 बजे 15 मिनट तक बरसात हुई। इससे निचले हिस्सों में पानी भर गया। पानी निकासी नहीं होने के कारण केशव कॉलोनी की गलियां पानी से भर गई।

जैतसर| गुरुवार रात आई आंधी से गांव 7 एलसी, मघेवाली ढाणी, बुगिया, 3 एलसी में आंधी के कारण पकाव पर खड़ी गेहूं की फसल खेतों में पसर गई। किसान पवन बारुपाल, राम सिंह मोटा, वेद प्रकाश ने बताया कि फसलों को नुकसान हुआ है। नायब तहसीलदार श्यामलाल धवन ने बताया कि पटवारियों से सर्वे करा रहे हैं।

रामसिंहपुर|गुरुवार रात्रि और फिर शुक्रवार सुबह हल्की बरसात होने से सरसों की फसल को नुकसान हुआ है। हल्की बारिश से पछेती गेंहूं की फसल को फायदा मिलेगा। किसान मंडीयार्ड में भंडारण की उचित व्यवस्था नहीं होने से सरसों की फसल लाने से कतरा रहे है। सरसों की फसल तौलने के बाद 18 किलोमीटर दूर श्रीविजयनगर के वेयर हाउस में रखी जाएगी।

वजह- पश्चिमी विक्षोभ के चलते आया बदलाव: मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के चलते मौसम में बदलाव आया है। आगामी तीन दिनों तक ऐसा ही मौसम बना रहेगा। मौसम में आए बदलाव के चलते शुक्रवार को गत दिवस से तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। जिला मुख्यालय पर रात में 1.4 एमएम बरसात दर्ज की गई। रात में आंधीनुमा तेज हवाएं चलीं। मौसम विभाग के अनुसार उत्तर से दक्षिण की ओर ठंडी हवाएं चलेंगी तथा मेघ गर्जना के साथ बरसात होने की संभावना है। साथ ही अधिकतम व न्यूनतम तापमान में भी गिरावट आएगी।

जैतसर. आंधी से जमीन पर गिरी गेहूं की फसल।

22 जीबी|गुरुवार रात चली तेज हवा से कटी हुई फसलें बिखर गई हैं। 22 जीबी व 24 एसडी में करीब दस मिनट तक करीब तीन अंगुल के करीब बारिश हुई है। रघुनाथपुरा, 24 व 13 जीबी23 एसडी, दस सरकारी में भी हल्की बारिश हुई। किसान डॉ. हंसराज गोदारा ने बताया है कि फसलों काे नुकसान है।

घड़साना
बीरमाना| ग्रामीण क्षेत्र में गुरुवार रात 9 बजे तेज आंधी के साथ हल्की बूंदाबांदी हुई जो एक घंटे तक चली। किसान महावीर गेदर, जगदीश, रामचंद्र शर्मा, लक्ष्मण शर्मा व लालचंद ने बताया कि मौसम पलटने से नुकसान हुआ है।

सीलवानी|क्षेत्र में रात को हल्की बारिश के साथ तेज आंधी चली। इससे गेहूं की फसल जमीनी सतह पर बिछ जाने से दाने बिखर गए। किसान कुलविंद्र सिंह, पदमाराम, जोगपाल व चंद्रसिंह राजपूत ने बताया कि सरसों गीली हो जाने से गुणवत्ता प्रभावित हुई है।

राजियासर|शुक्रवार सुबह 11 बजे तेज आंधी व हल्की बारिश के कारण किसान चिंतित दिखे। किसान शीशपाल गोदारा, पृथ्वीराज स्वामी, रुपाराम, सुभाष शर्मा, भीमसेन, महावीर शर्मा, बजरंगलाल व नेतराम ने बताया कि अब साफ मौसम की दरकार है। आंधी व बारिश के मौसम से किसानों की चिंता बढ़ी है।

खबरें और भी हैं...