पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • खेती औजार प्रमाणित करने की नई पॉलिसी पर छोटे सनतकारों में रोष

खेती औजार प्रमाणित करने की नई पॉलिसी पर छोटे सनतकारों में रोष

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता| तलवंडी भाई

केंद्र सरकार की ओर से कृषि के रहंद खूंहद को बिना आग लगाए उसे नष्ट करने के लिए खेतीबाड़ी औजारों पर सब्सिडी देने के लिए राज्यों को अरबों रुपए की राशि मुहैया करवाई जा रही है, परंतु सब्सिडी के लिए खेतीबाड़ी औजार प्रमाणित करने के लिए जो नई पालिसी तैयार की गई है उससे छोटे कृषि औजार बनाने वाले सनतकारों में रोष पाया जा रहा है, क्योंकि केंद्रीय खेतीबाड़ी मंत्रालय की ओर से कृषि औजार तैयार करने वाली फर्म को सब्सिडी के लिए प्रमाणित होने की गारंटी के तौर पर 10 लाख रुपए की सिक्योरिटी विभाग को देनी पड़ेगी। सनतकारों ने बताया कि छोटे सनतकार का कारोबार सीमित होने के कारण उनके लिए सरकारी सब्सिडी के लिए प्रमाणित होने के लिए इतनी बड़ी राशि का प्रबंध करना मुश्किल हो जाएगा। इस मौके पर एग्रीकल्चर इम्प्लीमेंट मैन्यूफैक्चर्स एसोसिएशन प्रधान मक्खन सिंह, लखवीर सिंह घड़ियाल, मुख्तार सिंह, गुरदीप सिंह घड़ियाल, रणजीत सिंह, दर्शन लाल सेठी, दर्शन सिंह वकीलांवाला, हरजीत सिंह, बखतावर सिंह, जीत मंसूरवाल, निमल सिंह, स्वर्ण सिंह, नक्षत्र सिंह, गगनदीप सिंह, बलवीर सिंह राजा, गुरचरन सिंह इत्यादि मौजूद थे।

केंद्रीय खेतीबाड़ी मंत्रालय की ओर से लगाई गई शर्तों का विरोध करते हुए खेतीबाड़ी औजार सनतकार।

सर्किल बचाओ संघर्ष कमेटी की भूख हड़ताल 12वें दिन जारी
मुक्तसर| जल सप्लाई व सेनिटेशन के सर्किल कार्यालय को बचाने के लिए सर्किल बचाओ संघर्ष कमेटी की भूख हड़ताल 12वें दिन दाखिल हो गई। हड़ताल में सरदूल सिंह कलेर, मोहर सिंह खालसा, कुलवंत सिंह सरोता, रणजीत सिंह, कैलाश सिंह आदि बैठे। इसके अतिरिक्त मुक्तसर विकास मिशन के जगजीत सिंह हन्नी फत्तनवाला, नीलम शर्मा, काला सिंह बेदी, चिंत राम नाहर आदि समूची टीम द्वारा संकेतक भूख हड़ताल पर बैठते हुए लोक हितों व मुलाजिम हितों की खातिर लड़े जा रहे संघर्ष में पूर्ण सहयोग देने का भरोसा दिलाया। जगमीत सिंह, वजिंदर सिंह, जसवीर सिंह, संदीप कुमार, जसविंदर सिंह, कमल दास, तलविंदर निझर, गुरदेव सिंह, हरमंदर सिंह, मेजर सिंह व श्याम लाल नेताओं मांग की है कि सर्किल कार्यालय को तोड़ने का फैसला वापस लिया जाए। नेताओं ने बताया कि 10 अप्रैल को डीसी कार्यालय के समक्ष मटका फोड़ प्रदर्शन किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...