पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • पानी की आवक कम होने से पेयजल व्यवस्था में सुधार के दावों को धक्का

पानी की आवक कम होने से पेयजल व्यवस्था में सुधार के दावों को धक्का

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बीसलपुर बांध से शहर में पानी सप्लाई के लिए टंकियों के साथ ही पाइप लाइन का कार्य लगभग पूरा हो गया बताया जा रहा है, लेकिन उसके बावजूद भी प्रतिदिन पानी सप्लाई होना आसान नहीं है। जबकि पूर्व में अप्रैल माह से प्रतिदिन पानी सप्लाई की बात कहीं गई। उसके बाद जून तक पानी सप्लाई किए जाने का दावा किया गया। टोंक शहर में अब तक प्रतिदिन पानी सप्लाई नहीं हो पा रहा है। ना ही कई इलाकों में पर्याप्त पानी की सप्लाई हो पा रही है। जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के दावे जहां खोखले नजर आ रहे हैं। वहीं बीसलपुर बांध में पानी की पर्याप्त आवक नहीं होने से शहर की पेयजल व्यवस्था किए जा रहे सभी सुधारों को धक्का भी लग सकता है।

उल्लेखनीय है कि गत वर्ष मानसून में सामान्य से कम बारिश हुई थी। उसके बाद इस बार अब तक भी बेहद कम बारिश हुई है। इस कारण बीसलपुर बांध में पानी की पर्याप्त आवक अब तक नहीं हो पाई है। ऐसे में बीसलपुर बांध से सप्लाई होने वाले पानी की आवक कम होने की संभावनाएं प्रबल हो गई है। हालांकि अभी बीसलपुर बांध से 120 लाख लीटर पानी प्रतिदिन लिया जा रहा है। इसके अतिरिक्त करीब 30 लाख लीटर पानी जलदाय विभाग अपने बनास नदी में स्थित स्रोतों से प्रतिदिन पानी सप्लाई कर रहा है। जबकि शहर में प्रतिदिन 250 लाख लीटर पानी की आवश्यकता है।

बीसलपुर की स्थिति

बीसलपुर बांध में वर्तमान में पानी का भराव 309.20 आरएल मीटर है। जबकि इसकी भराव क्षमता 315 आरएल मीटर तक है। बीसलपुर बांध में 2016 में पानी की आवक होने के कारण बांध ओवरफ्लो हो गया था। लेकिन पिछले दो साल से पानी की आवक कम होने के कारण सिंचाई का पानी भी पर्याप्त मात्रा में मिलना मुश्किल होता रहा है। इस बार भी अब तक सामान्य से कम बारिश हुई है।

बारिश कम होने से समस्या होगी गंभीर

टोंक शहर में नियमित पेयजल सप्लाई के लिए 250 लाख लीटर प्रतिदिन आवश्यकता है। इसकी पूर्ति के लिए जून माह में बीसलपुर परियोजना वृत को पत्र लिखा गया था। इसका जवाब अब तक नहीं आया है। बीसलपुर बांध से पर्याप्त पानी की आपूर्ति होने के बाद ही शहर में प्रतिदिन एवं सुचारू सप्लाई हो सकेगी। इसके लिए सभी प्रकार के प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन बारिश कम होने के कारण समस्या आने की भी संभावनाएं जताई जा रही है। फिलहाल बीसलपुर बांध से 120 लाख लीटर पानी ही मिल पा रहा है। जलदाय विभाग को तीस लाख लीटर प्रतिदिन पानी लोकल स्त्रोत से मिल रहा है। -राजेश गोयल, एक्सईएन, जलदाय विभाग

राजमहल. बीसलपुर बांध

कार्यालय संवाददाता | टोंक

बीसलपुर बांध से शहर में पानी सप्लाई के लिए टंकियों के साथ ही पाइप लाइन का कार्य लगभग पूरा हो गया बताया जा रहा है, लेकिन उसके बावजूद भी प्रतिदिन पानी सप्लाई होना आसान नहीं है। जबकि पूर्व में अप्रैल माह से प्रतिदिन पानी सप्लाई की बात कहीं गई। उसके बाद जून तक पानी सप्लाई किए जाने का दावा किया गया। टोंक शहर में अब तक प्रतिदिन पानी सप्लाई नहीं हो पा रहा है। ना ही कई इलाकों में पर्याप्त पानी की सप्लाई हो पा रही है। जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के दावे जहां खोखले नजर आ रहे हैं। वहीं बीसलपुर बांध में पानी की पर्याप्त आवक नहीं होने से शहर की पेयजल व्यवस्था किए जा रहे सभी सुधारों को धक्का भी लग सकता है।

उल्लेखनीय है कि गत वर्ष मानसून में सामान्य से कम बारिश हुई थी। उसके बाद इस बार अब तक भी बेहद कम बारिश हुई है। इस कारण बीसलपुर बांध में पानी की पर्याप्त आवक अब तक नहीं हो पाई है। ऐसे में बीसलपुर बांध से सप्लाई होने वाले पानी की आवक कम होने की संभावनाएं प्रबल हो गई है। हालांकि अभी बीसलपुर बांध से 120 लाख लीटर पानी प्रतिदिन लिया जा रहा है। इसके अतिरिक्त करीब 30 लाख लीटर पानी जलदाय विभाग अपने बनास नदी में स्थित स्रोतों से प्रतिदिन पानी सप्लाई कर रहा है। जबकि शहर में प्रतिदिन 250 लाख लीटर पानी की आवश्यकता है।

बीसलपुर की स्थिति

बीसलपुर बांध में वर्तमान में पानी का भराव 309.20 आरएल मीटर है। जबकि इसकी भराव क्षमता 315 आरएल मीटर तक है। बीसलपुर बांध में 2016 में पानी की आवक होने के कारण बांध ओवरफ्लो हो गया था। लेकिन पिछले दो साल से पानी की आवक कम होने के कारण सिंचाई का पानी भी पर्याप्त मात्रा में मिलना मुश्किल होता रहा है। इस बार भी अब तक सामान्य से कम बारिश हुई है।

बारिश कम होने से समस्या होगी गंभीर

टोंक शहर में नियमित पेयजल सप्लाई के लिए 250 लाख लीटर प्रतिदिन आवश्यकता है। इसकी पूर्ति के लिए जून माह में बीसलपुर परियोजना वृत को पत्र लिखा गया था। इसका जवाब अब तक नहीं आया है। बीसलपुर बांध से पर्याप्त पानी की आपूर्ति होने के बाद ही शहर में प्रतिदिन एवं सुचारू सप्लाई हो सकेगी। इसके लिए सभी प्रकार के प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन बारिश कम होने के कारण समस्या आने की भी संभावनाएं जताई जा रही है। फिलहाल बीसलपुर बांध से 120 लाख लीटर पानी ही मिल पा रहा है। जलदाय विभाग को तीस लाख लीटर प्रतिदिन पानी लोकल स्त्रोत से मिल रहा है। -राजेश गोयल, एक्सईएन, जलदाय विभाग

कार्यालय संवाददाता | टोंक

बीसलपुर बांध से शहर में पानी सप्लाई के लिए टंकियों के साथ ही पाइप लाइन का कार्य लगभग पूरा हो गया बताया जा रहा है, लेकिन उसके बावजूद भी प्रतिदिन पानी सप्लाई होना आसान नहीं है। जबकि पूर्व में अप्रैल माह से प्रतिदिन पानी सप्लाई की बात कहीं गई। उसके बाद जून तक पानी सप्लाई किए जाने का दावा किया गया। टोंक शहर में अब तक प्रतिदिन पानी सप्लाई नहीं हो पा रहा है। ना ही कई इलाकों में पर्याप्त पानी की सप्लाई हो पा रही है। जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के दावे जहां खोखले नजर आ रहे हैं। वहीं बीसलपुर बांध में पानी की पर्याप्त आवक नहीं होने से शहर की पेयजल व्यवस्था किए जा रहे सभी सुधारों को धक्का भी लग सकता है।

उल्लेखनीय है कि गत वर्ष मानसून में सामान्य से कम बारिश हुई थी। उसके बाद इस बार अब तक भी बेहद कम बारिश हुई है। इस कारण बीसलपुर बांध में पानी की पर्याप्त आवक अब तक नहीं हो पाई है। ऐसे में बीसलपुर बांध से सप्लाई होने वाले पानी की आवक कम होने की संभावनाएं प्रबल हो गई है। हालांकि अभी बीसलपुर बांध से 120 लाख लीटर पानी प्रतिदिन लिया जा रहा है। इसके अतिरिक्त करीब 30 लाख लीटर पानी जलदाय विभाग अपने बनास नदी में स्थित स्रोतों से प्रतिदिन पानी सप्लाई कर रहा है। जबकि शहर में प्रतिदिन 250 लाख लीटर पानी की आवश्यकता है।

बीसलपुर की स्थिति

बीसलपुर बांध में वर्तमान में पानी का भराव 309.20 आरएल मीटर है। जबकि इसकी भराव क्षमता 315 आरएल मीटर तक है। बीसलपुर बांध में 2016 में पानी की आवक होने के कारण बांध ओवरफ्लो हो गया था। लेकिन पिछले दो साल से पानी की आवक कम होने के कारण सिंचाई का पानी भी पर्याप्त मात्रा में मिलना मुश्किल होता रहा है। इस बार भी अब तक सामान्य से कम बारिश हुई है।

बारिश कम होने से समस्या होगी गंभीर

टोंक शहर में नियमित पेयजल सप्लाई के लिए 250 लाख लीटर प्रतिदिन आवश्यकता है। इसकी पूर्ति के लिए जून माह में बीसलपुर परियोजना वृत को पत्र लिखा गया था। इसका जवाब अब तक नहीं आया है। बीसलपुर बांध से पर्याप्त पानी की आपूर्ति होने के बाद ही शहर में प्रतिदिन एवं सुचारू सप्लाई हो सकेगी। इसके लिए सभी प्रकार के प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन बारिश कम होने के कारण समस्या आने की भी संभावनाएं जताई जा रही है। फिलहाल बीसलपुर बांध से 120 लाख लीटर पानी ही मिल पा रहा है। जलदाय विभाग को तीस लाख लीटर प्रतिदिन पानी लोकल स्त्रोत से मिल रहा है। -राजेश गोयल, एक्सईएन, जलदाय विभाग

खबरें और भी हैं...