पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • जीवन में कभी अपना जायज हक भी छोड़ना चाहिए : मुनि

जीवन में कभी अपना जायज हक भी छोड़ना चाहिए : मुनि

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
उचाना | उचाना 22 पंथ जैन स्थानक में चातुर्मास के दौरान अचल मुनि महाराज ठाणे-5 ने धर्म सभा में कहा कि कभी-कभी जायज हक भी छोड़ो। परिवार की शांति के लिए, समाज एवं जीवन को सुखी बनाने के लिए अपने हक को जरूर छोड़ो। छोड़ने वाला हमेशा बड़ा होता है। आप जिसे अपना समझ रहे हो वो अपना नहीं है। कुछ भी साथ लेकर नहीं आए थे न किसी वस्तु को साथ में लेकर जाएंगे। आज कोर्ट में करोड़ों केस चल रहे हैं जिनमें अधिकांश जर, जोरू, जमीन के हैं। बिना झगड़े के हक मिले तो ले लो वरना छोड़ दो। आज लाखों, करोड़ों के बंटवारे होते हैं पर हजारों की चीज पर मनमुटाव कर लेते हैं। जो मिला है वो उसका मजा नहीं लेते और जो नहीं मिला है उसका मलाल करते हैं।

खबरें और भी हैं...