पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • 224 लोगों ने नहीं 175 लोगों ने ले रखे हैं एक से अधिक गोल्ड लोन

224 लोगों ने नहीं 175 लोगों ने ले रखे हैं एक से अधिक गोल्ड लोन

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता | होशियारपुर

कस्बा बुल्लोवाल की एसबीआई ब्रांच में हुए करोड़ों रुपए गोल्ड लोन घोटाले में शामिल मेन सरगना सुनार जतिंदर लवली अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है। सुनार के खिलाफ 19 मार्च को मामला दायर होने से पहले ही वह परिवार समेत फरार हो गया था। पुलिस ने 20 मार्च को लुकआउट नोटिस भी जारी किया किया था। वहीं, अब तक हुई जांच में पता चला है कि अभी तक बैंक के किसी भी अधिकारी की इस गोल्ड लोन में कोई भूमिका नजर नहीं आ रही। लेकिन बैंक ने बुल्लोवाल ब्रांच के हेड कैशियर अवतार सिंह और एकाउंटेंट चमन लाल का तबादला कर दिया है।

जांच अधिकारी इंस्पेक्टर विक्रमजीत सिंह ने बताया कि लोगों को जांच के लिए बुलाया जा रहा है और अभी तक यह पता चला है कि जो 224 लोन लिए गए वह असल में 175 लोगों के नाम पर हैं। कई लोगों के दो-दो तीन-तीन गोल्ड लोन ले रखे हैं। अभी तक 24 लोगों के बयान दर्ज किए जा चुके हैं। जो लोग सामने आ रहे हैं उनके बयान के मुताबिक यह लोग सुनार लवली से सिर्फ ब्याज पर पैसे लेने गए थे लेकिन लवली ने इनको बहला-फुसलाकर एसबीआई में एकाउंट खोलने के लिए मना लिया। लवली का आदमी उन्हें बैंक ले जाता और लोन के कागजों पर साइन करवा लेता था। जांच में लोगों ने बताया कि उन्होंने अपने तौर पर कोई सोना नहीं दिया और न ही उनको इस बात की जानकारी थी कि लवली इसके पीछे कौन सा घोटाला कर रहा है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक जो लोग जांच के लिए बुलाए गए हैं वह बेहद गरीब परिवार हैं और उनके पास इतनी सामर्थ्य ही नहीं कि वह सोना रख कर लोन ले सकें।

बता दें कि केस दर्ज होने के करीब एक हफ्ता पहले जब इस स्कैम की परतें खुलनी शुरू हुई तो स्कैम का मेन सरगना जतिंदर लवली फरार हो गया था। इसी बीच उसके लिए काम कर रहा फाइनेंसर सुखविंदर पाल सिंह सन्नी पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस ने आनन-फानन में सुनियार जतिंदर लवली, सुखविंदर पाल सिंह, बैंक के मैनेजर सिद्धार्थ भट्टी और दूसरे फाइनेंसर जसविंदर पाल के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इस मामले के जांच अधिकारी इंस्पेक्टर विक्रमजीत सिंह ने बताया कि सुनियार के ठिकानों पर रेड मारे जा रहे हैं लेकिन अभी तक उसका सुराग नहीं मिल रहा और न ही उस संबंधी खास जानकारी मिल रही है। उसके मोबाइल फोन बंद हैं।

खबरें और भी हैं...