पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • आटा 50 से 75 रुपए महंगा, सरकार का गेहूं बिका तो घट सकते हैं भाव

आटा 50 से 75 रुपए महंगा, सरकार का गेहूं बिका तो घट सकते हैं भाव

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
उज्जैन | आटा व्यापार में ग्राहकी बढ़ गई। भाव भी 50 से 75 रुपए बढ़ गए। सरकार ने गेहूं बेचा तो आटा भाव में घटा जाएगा। अगर सरकार ने गेहूं नहीं बेचा तो आटे के नए भाव देखने को मिलेंगे। गेहूं में तेजी आने के बाद आटा मिलों ने भावों में तेजी ला दी है। आटा व्यापारी चंपक जैन ने बताया सृष्टी ब्रांड आटा 2100 वाला 2180 रुपए हो गया। अप्पू 1000 वाला 1040, बावर्ची 2000 वाला 2080 रुपए हो गया। 5 और 10 किलो की पैकिंग में बिक्री बढ़ती जा रही है। मिल का आटा एक माह तक नहीं खराब होता, लेकिन अधिक दिन होने पर इसमें कीड़े पड़ने लगते हैं। ऐसा बताया जाता है कि पैकिंग मजबूत वाला कम बिगड़ता है। गेहूं का व्यापार बड़े भाव पर भी कम हो गया है। शुक्रवार को उज्जैन मंडी में 4 आढ़तियों ने ऊंचे भाव पर गेहूं खरीदा, लेकिन शनिवार को इस प्रकार की खरीदी जाम बनी रही। सरकार की बिक्री की खबरों ने गेहूं के चलते व्यापार की रफ्तार रोक दी है। एक-दो आटा मिलें सरकारी छाप गेहूं से काम चला रही हैं और लाभ भी कमा रहे हैं।





शिकायतों का दौर शुरू होने से खाद्य में इसकी जांच का डर भी है।

खबरें और भी हैं...