पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • विश्रामपुर को जिला बनाने की मांग पर 20 से होगा आंदोलन

विश्रामपुर को जिला बनाने की मांग पर 20 से होगा आंदोलन

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
विश्रामपुर पुराने अंचल के चारों प्रखंड और नप को मिलाकर अनुमंडल व जिला सृजन की मांग को मजबूती प्रदान करने को लेकर गांधी विचार मंच अध्यक्ष रविंद्रनाथ के स्थानीय आवास पर इसके पदाधिकारी व सदस्यों की बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता मंच के अध्यक्ष ने की। संचालन उपाध्यक्ष विष्णुकेश मिश्रा ने किया।

बैठक में विश्रामपुर को अनुमंडल व जिला बनाने की मांग पर प्रारंभिक रणनीति तय हुई। तय हुआ कि जिला बनाने की मांग के समर्थन में आंदोलन की विस्तृत रूपरेखा तैयार की जाए। इसके लिए 19 अगस्त को बैठक होगी जिसमें पार्षद व वार्ड सदस्य की भी सहभागिता सुनिश्चित हो। बैठक के बाद मंच के लोगों ने प्रेसवार्ता कर बैठक में लिए गए तात्कालिक निर्णय के बारे में पत्रकारों को जानकारी दी गयी।

मंच के अध्यक्ष ने कहा कि विश्रामपुर अनुमंडल व जिला बनने का सारी अहर्ताएं पूरी करता है। मंच अध्यक्ष ने बताया कि मंच ने स्थानीय विधायक व सरकार के नुमाइंदे रामचंद्र चंद्रवंशी के माध्यम से विश्रामपुर को अनुमंडल व जिला का दर्जा देने कि मांग को सूबे के मुख्यमंत्री तक इस मांग को प्रेषित किया है। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त के बाद मंच द्वारा एक अभियान शुरू किया जाएगा। इसके प्रथम चरण में लोगों को जागरूक करते हुए इस मुद्दे पर खुल कर समर्थन करने की अपील की जाएगी। आगामी 19 अगस्त को विश्रामपुर में सर्वदलीय बैठक बुलायी जाएगी। इस बैठक में सभी दल के लोगों से विश्रामपुर को अनुमंडल व जिला बनाने की मुहिम से सबको जोड़ने का प्रयास किया जाएगा। दूसरे चरण में 20 अगस्त से विश्रामपुर, पांडू , उंटारी रोड व नावा बाजार प्रखंड के सभी 34 पंचायत में मुखिया की अध्यक्षता में बैठक करायी जाएगी। इस प्रस्तावित बैठक में पंचायत प्रतिनिधियों के अलावा आम-अवाम की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी।

आगामी 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर पर महापंचायत का स्थानीय नप मुख्यालय में आयोजित की जाएगी। इसमें रायशुमारी करने के बाद आंदोलन को और व्यापक बनाया जायेगा। मौके पर मंच के वरीय प्रतिनिधि व वरिष्ठ समाजसेवी संजय पाण्डेय, विजय तिवारी, कमलेश उपाध्याय, रामसेवक मिस्त्री, सुरेश विंद, संजय उपाध्याय, गणेश यादव, मजमुद्दीन अंसारी, दिलीप पासवान, विनोद यादव, अरविंद उपाध्याय, रघुवंश पासवान आदि शामिल थे।

खबरें और भी हैं...