पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • मिड डे मील बर्तनों के लिए 1.49 करोड़ का बजट जारी

मिड-डे मील बर्तनों के लिए 1.49 करोड़ का बजट जारी

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिले के 911 प्राइमरी-मिडिल स्कूलों में बर्तनों के अभाव में सवा माह से दूध का इंतजार कर रहे अब 59 हजार बच्चों को इसी सप्ताह फ्लेवर्ड मिल्क पीने को मिलने लगेगा। पुराने डीईईओ की भेजी डिमांड पर विभाग ने स्कूलों में बर्तनों के लिए 1.49 करोड़ का बजट जारी कर दिया है, लेकिन इसके बिल पास करने में नए डीईईओ के हस्ताक्षर का इंतजार है। उधर, बर्तनों के आने तक दूध की सप्लाई चालू करने की डिमांड पर वीटा मिल्क प्लांट से दूध की सप्लाई भी आ रही है। तीन ब्लॉकों के स्कूलों में दूध पाउडर के पैकेट पहुंच चुके हैं, जबकि अन्य में अगले तीन दिन तक सप्लाई पहुंच जाएगी।

गर्मियों की छुट्टियों से पहले मार्च माह में सरकारी प्राइमरी व मिडिल स्कूलों में दो माह के स्टॉक के रूप में 15 हजार किलो फ्लेवर्ड मिल्क पाउडर सप्लाई हुआ। दूध बनाने व परोसने के लिए अलग से बर्तन न होने पर स्कूलों ने मार्च के बाद अप्रैल तक भी बर्तनों का इंतजार किया, लेकिन बर्तन नहीं आए। जब पाउडर की एक्सपायरी डेट पास आई तो मेन्यू के मुताबिक सप्ताह में 3 दिन बंटने वाले दूध को हर दिन बांटकर निपटाया गया। इसके बाद अगस्त का पहला सप्ताह बीतने पर स्कूलों को बर्तन नहीं मिल पाए और न ही दूध।

बच्चों को उनके हक का दूध न मिलने के मामले को लेकर को भास्कर ने प्रमुखता से उठाया।

जल्द परोसेंगे दूध

पुराने डीईईओ ने बिन बर्तन दूध परोसने को भेजी थी डिमांड, बिल पर नए डीईईओ के साइन का इंतजार

भास्कर मुहिम

24 जुलाई को प्रकाशित खबर

3 बार पत्र भेज मांगा बर्तनों का बजट, नहीं मिला तो दूध की डिमांड भेजी

डीईईओ अरुण कुमार का तबादला कुरुक्षेत्र में हो गया है। उनकी जगह अब पानीपत से राजपाल बुधवार से चार्ज संभालेंगे। अरुण कुमार ने बर्तनों के अभाव में स्कूलों में अटकी बच्चों को दूध पिलाने की योजना पर जुलाई माह में तीन बार निदेशालय को पत्र लिखकर बर्तनों के लिए बजट मांगा था। जब बर्तनों का बजट नहीं मिला तो इसके बाद उनकी ओर से वीटा मिल्क प्लांट अंबाला से दूध की सप्लाई मांगी गई।

बजट जारी, पर हस्ताक्षर के लिए अटके बिल: स्कूलों में बच्चों को दूध पिलाने के लिए पुराने डीईईओ की ओर से भेजी गई डिमांड के मुताबिक विभाग की ओर से बर्तनों के लिए 1.49 करोड़ का बजट जारी कर दिया गया है, लेकिन बर्तनों की खरीद के लिए बिल पास करने के लिए अब नए डीईईओ राजपाल के हस्ताक्षर का इंतजार है, जो बुधवार को चार्ज संभालेंगे।

तीन ब्लॉकों में पहुंचा मिल्क पाउडर : सोनाक्षी

मिड-डे मील इंचार्ज सोनाक्षी ने बताया कि वीटा मिल्क प्लांट अंबाला को बर्तनों के आने तक 19 हजार मिल्क पाउडर के पैकेट की डिमांड भेजी गई थी। इसके बाद सोमवार से रादौर, बिलासपुर व छछरौली ब्लॉक में दूध पाउडर की सप्लाई पहुंच गई है। वहीं अगले तीन दिन में साढौरा, सरस्वती नगर, जगाधरी में भी दूध का पाउडर पहुंच जाएगा। बीईओ ऑफिस से इसे संबंधित स्कूलों में पहुंचा दिया जाएगा। वहीं, पानीपत से यमुनानगर के डीईईओ बनाए गए राजपाल ने बताया कि वह बुधवार को यमुनानगर का चार्ज संभालेंगे। बच्चों को दूध पिलाने की योजना में कहां कमी रह गई, इसकी जांच की जाएगी।

खबरें और भी हैं...