Hindi News »Chandigarh Zilla »Mohali »Zirakpur» डिस्पेंसरी में अज्ञात के तार काटने पर जाती है बिजली

डिस्पेंसरी में अज्ञात के तार काटने पर जाती है बिजली

जीरकपुर| बलटाना की करीब एक लाख आबादी के लिए बनाई गई डिस्पेंसरी के पूरे स्टाफ को कोई जानबूझ कर तंग कर रहा है। यहां...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 22, 2018, 02:05 AM IST

डिस्पेंसरी में अज्ञात के तार काटने पर जाती है बिजली
जीरकपुर| बलटाना की करीब एक लाख आबादी के लिए बनाई गई डिस्पेंसरी के पूरे स्टाफ को कोई जानबूझ कर तंग कर रहा है। यहां कोई चुपचाप बिजली की तार काट देता है। इससे पूरी डिस्पेंसरी में सप्लाई बंद हो जाती है। ऐसा कई बार हो गया है। पहले स्टाफ को इसका पता नहीं चलता था कि बिजली तार के काटने के बाद ही बंद हुई है। तब यहां पूरे दिन डाक्टर, नर्स व अन्य स्टाफ बिना बिजली के रहता था। स्टाफ समझता था कि पावरकट के कारण सप्लाई बंद हुई है। लेकिन, जब पता चला कि किसी ने तार काट ली तो अब यहां बिजली बंद हाेती है तो सबसे पहले बिजली की तार को चेक किया जाता है।

शिकायत लेकर डाक्टर पहुंची एमसी ऑफिस: वीरवार को इस डिस्पेंसरी में तैनात डाक्टर सुमन जीरकपुर एमसी ऑफिस पहुंची। उन्होंने ने एमसी प्रधान को इस परेशानी के बारे में विस्तार से बताया।

एक और परेशानी बनी सिरदर्द : पहले तार काटने की परेशानी दूर नहीं हुई है। अब जीरकपुर एमसी ने यहां लेटर भेजा है कि इस डिस्पेंसरी को तुरंत खाली किया जाए। डाॅक्टर सुमन ने वह लेटर भी एमसी प्रधान कुलविंदर सोही को दिखाया। सोही ने एक्जीक्यूटिव ऑफिसर मनवीर सिंह गिल से पूछा कि डिस्पेंसरी खाली कराने के लिए क्यों नोटिस जारी किया गया है। इस पर गिल ने जवाब दिया कि डीसी मोहाली के आदेश पर यहां नोटिस भेजा गया है। क्योंकि जिस बिल्डिंग में डिस्पेंसरी चल रही है वह बलटाना का कम्युनिटी सेंटर है। इसलिए, इसे खाली करने का आदेश दिए गए हैं।

वहीं, एमसी के प्रधान कुलविंदर सोही ने कहा कि डिस्पेंसरी के लिए यहां गुरुद्वारे के पास बिल्डिंग बनाई गई है। उन्होंने ईओ से कहा है कि वहां बिजली कनेक्शन के लिए तुरंत अप्लाई करें व बिजली व्यवस्था करवाएं। इसके बाद यहां डिस्पेंसरी खोली जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Zirakpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×