ज़िरकपुर

  • Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Zirakpur
  • अनप्लांड तरीके से बन रही बिल्डिंग्स के नक्शे पास करने बंद किए नगर परिषद ने
--Advertisement--

अनप्लांड तरीके से बन रही बिल्डिंग्स के नक्शे पास करने बंद किए नगर परिषद ने

लोकल बॉजीड विभाग अब जीरकपुर को लेकर हरकत में आया है। शहर में अनप्लांड तरीके से मशरूम की तरह बन रही बिल्डिंग्स पर अब...

Danik Bhaskar

Jul 09, 2018, 02:05 AM IST
लोकल बॉजीड विभाग अब जीरकपुर को लेकर हरकत में आया है। शहर में अनप्लांड तरीके से मशरूम की तरह बन रही बिल्डिंग्स पर अब विभाग का ध्यान गया है। इसके तहत अगर अनप्लांड तरीके से बनी किसी बिल्डिंग का नकशा पास करने में एमसी का हेरफेर नजर आता है तो उसकी जवाबदेही तय होगी। इसे लेकर एमसी ने अनप्लांड तरीके से बनी बिल्डिंग्स के नक्शे पास करने बंद कर दिए हैं। इंपीरियल गार्डन की बिल्डिंग गिरने के बाद से लोकल बाॅडीज विभाग ने रेवेन्यू विभाग को भी यहां प्लांड डेवलपमेंट के अनुसार ही रजिस्ट्री करने को कहा है। लोकल बाॅडीज विभाग के डायरेक्टर करुणेश शर्मा ने बताया कि निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के स्पष्ट आदेश हैं कि जीरकपुर शहर की डेवलपमेंट प्लांड तरीके से ही होनी चाहिए। यहां बनने वाली बिल्डिंग की चेंकिग हर स्तर पर होनी चाहिए।

रोड कनेक्टिविटी पर भी फोकस: जीरकपुर जिस तेजी से बढ़ रहा है, उसके लिए सबसे जरूरी है यहां की रोड कनेक्टिविटी। इस पर भी सरकार का फोकस है। करुणेश शर्मा ने कहा कि यहां जी प्लस टू कैटेगरी के मकानों को लेकर रेवेन्यू विभाग को स्पष्ट कह रखा है कि इस कैटेगरी में मकान का ही नक्शा पास होना चाहिए। एमसी भी मकान की ही एनओसी देगी।


विभाग सख्त हुआ है तो अच्छा है...

मैं डिफेंस आॅफिसर की जॉब से रिटायर होने के बाद जीरकपुर में रहने लगा। सोचा था कि यह चंडीगढ़ से सटा है, इसलिए यहां भी चंडीगढ़ जैसा माहौल मिलेगा पर यहां अंधाधुंध निमार्ण हो रहे हैं। ये नियमों के बाहर हैं या नियमों के अनुसार हैं, यह लोकल अथॉरिटी ही जानती है, लेकि जो हो रहा है, वह प्लांड सिटी का हिस्सा नहीं लगता। अगर इस तरह मशरूम की तरह मकान बनने लगे तो बुनियादी सुविधाएं कहां से मिलेंगी। अगर लोकल बाडीज विभाग प्लांड डेवलपमेंट को लेकर सख्त हुई है तो इससे जीरकपुर के लिए अच्छा है। -बृज महाजन, निर्मल छाया, जीरकपुर

एमसी कैसे पास कर रही है नक्शे...

हमारे मोहल्ले में सभी मकान 800 से हजार गज के हैं पर अब कुछ प्रॉपर्टी डीलर यहां बड़े प्लाट्स के छोटे कर उनमें फ्लैट बना रहे हैं। लोकल बाॅजीड विभाग के आदेश तोड़ने का काम तो जीरकपुर एमसी ही कर रही है। इनके नक्शे कैसे पास हो रहे हैं। हमने इस बारे में एमसी को भी लिखा पर कोई फायदा नहीं हआ। रूल सबके लिए होने चाहिए। लोकल बाॅडीज विभाग अपने ही अधिकारियांे को प्लांड डेवलपमेंट के आधार पर नक्शा पास करने को कहे। तब सुधार होगा। अब कुछ फर्क है पर यह और ठीक होना चाहिए। -अमर सिंह, माॅडर्न एन्क्लेव जीरकपुर


Click to listen..