• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Zirakpur
  • जीरकपुर में एमसी ऑफिसर के खिलाफ सफाई कर्मचारियों ने दिया धरना
--Advertisement--

जीरकपुर में एमसी ऑफिसर के खिलाफ सफाई कर्मचारियों ने दिया धरना

ढकोली में सालों से जिस जगह लोगांे के घरों का गारबेज डंप होता था। उसी जगह किसी व्यक्ति ने बोर्ड लगातार गारबेज से...

Danik Bhaskar | Jun 23, 2018, 02:10 AM IST
ढकोली में सालों से जिस जगह लोगांे के घरों का गारबेज डंप होता था। उसी जगह किसी व्यक्ति ने बोर्ड लगातार गारबेज से रोका जा रहा है। बोर्ड पर लिखा है कि गारबेज डालने पर जुर्माना होगा। जबकि जगह एमसी की है। बोर्ड किसने लगाया इसके बारे में कुछ पता नहीं है। हालांकि, यह बात एमसी के अधिकारियों को पता है कि किसने बोर्ड लगाया है। इसके बाद भी उसे रोकने की जगह अपने ही सफाई कर्मियों को दूसरी जगह गारबेज डालने की सलाह दी जा रही है। इसी बात से खफा सफाई कर्मियों ने एमसी ऑफिस के बाहर दिया धरना दिया है। सफाई कर्मियों के प्रधान रविंदर ने बताया कि एमसी के ईओ ने कहा है कि गारबेज गाजीपुर में डंप किया जाए। एक्जीक्यूटिव ऑफिसर ने ढकोली में डोर टू डोर गारबेज कलेक्ट करने के बाद डंपिंग के लिए कर्मचारियों को जगह बताई है। उस जगह के पास ही सरकारी स्कूल भी है।

बड़ी हैरानी की बात यह है कि ईओ ने बच्चों की सेहत के बारे में एक बार भी नहीं सोचा। ये सफाई कर्मी भी गाजीपुर में स्कूल के पास गारबेज डालना नहीं चाहते हैे। यह जगह स्कूल के पास तो है ही। ढकाेली से भी करीब दो किलोमीटर दूर है। इसलिए यहां जाना नहीं चाहते हैं। कई दिन से यहां इसी बात को लेकर ड्रामा हो रहा है। लोगांे के घरों से गारबेज भी नहीं उठाया जा रहा है।

क्या कहा लोगांे ने

यहां ढकोली में रेलवे लाइन से कुछ पहले गारबेज का डंपिंग प्वाइंट बनाया गया है। जो सालों से यहीं पर है। अब यहां गारबेज डालने नहीं दिया जा रहा है। कुछ लोगों के घरों से सफाई कर्मी गारबेज उठाते हैं। कुछ लोग खुद ही यहां गारबेज डालते है। अब यहां बोर्ड लगाया है कि किसी ने यहां कचरा फेंका तो जुर्माना होगा। इसकी जांच होनी चाहिए। सरकारी जमीन पर कोई कैसे रोक सकता है।

-सतिंदर सिंह, निवासी ढकोली


राजनीति की भेंट चढ़ रहा शहर का सफाई सिस्टम: एमसी के प्रधान कुलविंदर साेही ने कहा कि जिस जगह ढकोली में गारबेज डंपिंग प्वाइंट बनाया है वह करीब 15 सालों से है। वह जगह एमसी की है। कोई व्यक्ति वहां गारबेज डालने से रोक नहीं सकता है। यहां एमसी के अधिकारियों की हालत पर तरस आ रहा है। जो अपने ही सफाई कर्मियों को गलत सलाह दे रहे हैं। अगर अफसरों से यह काम नहीं होता तो हम उस जगह किसी को कब्जा करने नहीं देंगे।