• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Zirakpur
  • जीरकपुर को पंचकूला से जोड़ने वाली सड़क जमीन एक्वायर न होने से रुकी
--Advertisement--

जीरकपुर को पंचकूला से जोड़ने वाली सड़क जमीन एक्वायर न होने से रुकी

मोहाली को पंचकूला से जोड़ने वाली जीरकपुर से गुजरती 11 किलोमीटर लंबी एयरपोर्ट रोड यानी पीआर 7 को पूरा करने का काम...

Danik Bhaskar | Jun 30, 2018, 02:15 AM IST
मोहाली को पंचकूला से जोड़ने वाली जीरकपुर से गुजरती 11 किलोमीटर लंबी एयरपोर्ट रोड यानी पीआर 7 को पूरा करने का काम मौजूदा सरकार भी अभी तक पूरा नहीं कर पाई है। इस रोड के बनने का इंतजार तीन शहरों मोहाली, जीरकपुर और पंचकूला के लोगों को है। मोहाली, जीरकपुर और पंचकूला के अलावा हिमाचल को जोड़ने वाली इस 11 किलोमीटर लंबी सड़क का पिछले 4 सालों में अभी तक सिर्फ 7 किलोमीटर हिस्सा जीरकपुर तक ही पूरा बन सका है। जीरकपुर से आगे पंचकूला की ओर यह चार किलोमीटर सड़क पूरी नहीं बन सकी है। इसमें से सिर्फ आधा किलोमीटर सड़क ही बनी है। उसके बाद 3 किलोमीटर सड़क नहीं बनी। इसका निर्माण कार्य 2015 में शुरू हुआ और इसे पंचकूला के सेक्टर-20-21 तक बनाया जाना है। अभी इस सड़क का काम जमीन एक्वायर न होने से रुका है। इस तीन किलोमीटर सड़क को बनाने के लिए गांव नगला से पीरमुछल्ला तक की जमीन एक्वायर की जानी है। जमीन एक्वायर न होने से इस काम में अभी दो साल और लग सकते हैं। गमाडा के एक्सईएन परमिंदर सिंह का कहना है कि एलएसी ब्रांच जमीन एक्वायर करके देगी तो कंस्ट्रक्शन का काम शुरू होगा।


होटल और रियल इस्टेट को सबसे ज्यादा फायदा होगा। डेवलपर्स भी इस रोड के बनने का इंतजार कर रहे हैं। यह इसलिए कि इससे हरियाणा से लेकर हिमाचल और पंचकूला, जीरकपुर, डेराबस्सी आदि से इंटरनेशनल एयरपोर्ट, मोहाली और पूरे पंजाब और लोअर हिमाचल को सीधी कनेिक्टविटी मिलेगी।

ट्राईसिटी और पंजाब-हरियाणा को मिलना है फायदा

इंटरनेशनल एयरपोर्ट के इर्द-गिर्द करीब 25 किमी. में फैले इलाके में डेवलप होने वाली इस रिंग रोड (पीआर7) के बनने से पूरे ट्राईसिटी के साथ-साथ पंजाब-हरियाणा और हिमाचल तक को फायदा मिलना है। इसे जीरकपुर-खरड़ का अब तक का पहला प्लांड इंफ्रास्ट्रक्चर माना जा रहा है। बेहतर रोड कनेक्टिविटी देने के लिए इसे शुरू तो किया गया पर काम कब पूरा होगा, इसका पता नहीं। लोग चाहते हैं कि इसका काम जल्दी पूरा हो, ताकि ट्रैफिक कंजेशन से निजात मिले। जीरकपुर के रेजिडेंट मोहित नंदा ने बताया कि इसके निमार्ण कार्य के शुरू होने पर बेहद खुशी हुई थी, क्योंकि यह पहली रोड है जो पंचकूला से मोहाली के बीच बन रही थी। अफसोस है कि यह अब तक नहीं बन सकी।


इंटरनेशनल एयरपोर्ट को सीधी कनेक्टिविटी देने वाली एयरपोर्ट रोड को ही िरंग रोड में बदला गया है। यह खरड़ से मोहाली होकर पहले पंजाब और लोअर हिमाचल को इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जोड़ेगी।