• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Zirakpur
  • लड़कियों को गाड़ी में बैठाकर ग्राहकों से सौदेबाजी करते दो लड़के गिरफ्तार
--Advertisement--

लड़कियों को गाड़ी में बैठाकर ग्राहकों से सौदेबाजी करते दो लड़के गिरफ्तार

हर रात कार में दो युवतियों को बैठाकर पहले चुनिंदा पॉइंट्स पर खड़े होना और फिर वहां ग्राहकों का इंतजार करना। उसके...

Danik Bhaskar | Jun 30, 2018, 02:15 AM IST
हर रात कार में दो युवतियों को बैठाकर पहले चुनिंदा पॉइंट्स पर खड़े होना और फिर वहां ग्राहकों का इंतजार करना। उसके बाद यदि किसी ग्राहक को कोई युवती पसंद आ जाए तो उसी समय सौदेबाजी कर युवती के उस ग्राहक के साथ ही भेज देना। दो युवक जीरकपुर में देहव्यापार का यह गोरखधंधा रोजाना सरेआम कर रहे थे। इस गैंग को एसएचओ पवन कुमार ने मुखबरी के अाधार पर पकड़ लिया। दोनाें युवकों और युवतियों के खिलाफ ह्यूमन ट्रैफिकिंग एक्ट 3, 4, 5 के तहत केस रजिस्टर्ड किया गया है। आरोपियों की पहचान जीरकपुर के मोतिया रॉयल सिटी के रहने वाले मोहित ढींगरा और फाजिल्का के रहले वाले पवन कुमार उर्फ पम्मा के रूप में हुई है। जबकि युवतियांे काे भी एफआईआर में नामजद किया गया है। पुलिस का कहना है कि उनसे पूछताछ की जा रही है।


शहर में कई गैंग सक्रिय

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि जीरकपुर में ऐसे काफी गैंग सक्रिय हैं, जो ईजी मनी के लिए यह काम कर रहे हैं। ऐसे ही कुछ युवतियां जोकि अधिकतर जरूरतमंद होती हैं। इस गोरखधंधे में शामिल हैं। सूत्रों की मानें तो अब तो शहर के अधिकतर होटलों में ऐसे काम के लिए पहले ही एडवांस बुकिंग की जाती है। गतदिनों आईजी रोपड रेंज और जीरकपुर की विभिन्न रेजिडेंशियल साेसायटीज के प्रतिनिधियों के बीच हुई मीटिंग में भी यह बात उठी थी कि अकसर एक युवक व युवती कमरा किराए पर लेते हंै और चंद दिनों में ही वहां अन्य लोग आकर रहने लगते हैं। इससे क्राइम का ग्राफ बढ़ रहा है। मीटिंग में प्रतिनिधियों ने मीडिया काे बताया था कि यदि रात के समय होटलों में सरप्राइज चेकिंग करें तो एक सप्ताह के भीतर ही दर्जनों ह्यूमन ट्रैफिकिंग के केस पकड़े जा सकते हैं। पूरे जिले में से इस समय जीरकपुर इस मामले में सबसे ऊपर है। उसका कारण है यहां पर बढ़ रही लोगों की संख्या। चंडीगढ़ व पंचकूला साथ है। इसलिए एक दूसरे एरिया के लेाग यहां पर आसानी से आ जाते हैं और होटलों मंे रातें बिताते हैं।

कभी फोन पर टाईअप तो कभी रास्ते में

एसएचओ पवन कुमार ने बताया कि सूचना मिली थी कि एक अर्टिगा गाड़ी में दो युवक दो युवतियों को साथ बैठाकर देह व्यापार का धंधा कर रहे हैं। इस पर उन्होंने अपने मुलाजिम को डम्मी ग्राहक बनाकर भेजा और सौदेबाजी शुरू कर दी। डम्मी ग्राहक व दोनों युवकों से हुए वार्तालाप की बकायदा रिकार्डिंग की। इसके बाद खुद एसएचओ ने आकर दोनों आरोपी युवकों व गाड़ी में बैठी युवतियों को पकड़ लिया। आरोपियों ने बताया कि ग्राहक से कभी फोन पर टाईअप कर लेते थे तो कभी रास्ते में।

वॉट्सएप पर जाती थी लड़कियों की फोटो

एसएचओ पवन कुमार ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि करीब डेढ़ पौने दो साल से वो इस धंधे में संलिप्त थे। पूरा नेटवर्क फैला हुआ था। अकसर वॉट्सएप पर भी लड़कियों की फोटोज ग्राहक को भेजी जाती थी और हर फोटो के नीचे नाइट का रेट भी लिखा होता था। जब ग्राहक को कोई लडकी पंसद आ जाती थी तो वह आरोपियों को दोबारा वॉट्सएप पर बुकिंग करवाकर मिलने का स्थान व टाइम फिक्स कर लेते थे।