• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Zirakpur
  • किरायेदारों की पुलिस वेरिफिकेशन नहीं करवाई, 13 मकान मालिकों पर केस
--Advertisement--

किरायेदारों की पुलिस वेरिफिकेशन नहीं करवाई, 13 मकान मालिकों पर केस

किरायेदारों की पुलिस वेरिफिकेशन न कराने पर पुलिस ने जीरकपुर, गाजीपुर, अौर बलटाना एरिया के 13 मकान मालिकों के खिलाफ...

Danik Bhaskar | May 25, 2018, 02:20 AM IST
किरायेदारों की पुलिस वेरिफिकेशन न कराने पर पुलिस ने जीरकपुर, गाजीपुर, अौर बलटाना एरिया के 13 मकान मालिकों के खिलाफ केस दर्ज किया है। यह कार्रवाई एसएसपी कुलदीप सिंह चहल की जांच के बाद की गई। पुलिस ने होमलैंड एन्क्लेव के शिव कुमार के खिलाफ केस दर्ज किया है। उसने किरायेदार की पुलिस वेरिफिकेशन नहीं कराई थी। गाजीपुर में एयरो होम के अतुल भाटिया, आदर्श नगर की जरनैल कौर, इसी कॉलोनी के असलम, लोहगढ़ के कृष्ण कुमार के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। लोहगढ़ में किराए पर देने के लिए बने मकान में कई किराएदार रखे गए पर किसी की भी पुलिस वेरिफिकेशन नहीं कराई गई। यहां के हरजीत सिंह के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। इसके अलावा वीआईपी रोड स्थित पेंटा होम के कमल वेदी, माया गार्डन के सूर्यभान ढिंगरा, एकेएस कॉलोनी के संजय के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। बलटाना चौकी पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। पुलिस यह कार्रवाई लगातार जारी रखेगी। पुलिस रोजाना किसी न किसी सोसायटी, रेजिडेंशियल कॉलोनी के किसी भी घर में कभी भी जाकर किरायेदार की वेरिफिकेशन की जांच कर सकती है।

गाजीपुर में डकैती के बाद शुरू हुई कार्रवाई: गाजीपुर में अनंता होम्स में एक घर में डकैती और तीन घरों में चोरी के बाद यह कार्रवाई की गई। लोगों ने पुलिस को बताया था कि यहां एक गुजरात नंबर की कार आई। उसमें आए दो लोगों ने इस वारदात को अंजाम दिया। पुलिस का मानना है कि वारदात करने वाला अचानक नहीं आया। उनको यहां की पूरी जानकारी थी। हो सकता है, वे यहां आते जाते रहे हों, इसलिए सुरक्षा सोसायटीज के अंदर होनी चाहिए। हर प्लॉट में रहने वाले की जानकारी होगी तो इस तरह की घटनाएं नहीं होंगी।

वेरिफिकेशन कराना पब्लिक के हित में: इस बारे में एसएसपी चहल ने कहा कि पुलिस वेरिफिकेशन कराने में पब्लिक का ही हित जुड़ा है, इसलिए यह जरूरी है। इस काम को पब्लिक को बिना पुलिस कार्रवाई के खुद ही करना चाहिए। ऐसा न करने पर पुलिस को केस दर्ज करने पड़ रहे हैं।


मई 2016 में बलटाना की एकता विहार कॉलोनी के मकान नंबर 204 के मालिक अमृतपाल सिंह के खिलाफ पुलिस ने किरायेदार की वेरिफिकेशन न करने पर केस दर्ज किया था। अमृतपाल ने उस व्यक्ति को मकान किराए पर दिया था,जो होशियारपुर में हुई एक हत्या में आरोपी था। पुलिस ने दो लोगों को इस मकान से गिरफ्तार किया। इसके बाद पुलिस ने मकान मालिक के खिलाफ भी केस दर्ज किया। जिन दो आरोपियों को यहां से पकड़ा गया, वे पहली मंजिल पर रह रहे थे। आरोपी रवि और उसके साथ रह रहे दूसरे व्यक्ति के परिवार के बारे में मकान मालिक अमृतपाल सिंह ने कोई जानकारी पुलिस काे नहीं दी। मकान में चेकिंग के दौरान रवि कुमार और उसका साथी वहां से भाग गए। बाद में दोनों को सिमरन अपार्टमेंट से पुलिस ने दबोचा।


डेराबस्सी। पुलिस ने लोगों से अपील की है कि कानून व्यवस्था में सहयोग करते हुए किरायेदारों संबंधी पूरी जानकारी पुलिस स्टेशन को मुहैया कराई जाए। साथ ही चेताया कि किरायेदारों की पूरी जानकारी न देने पर संबंधित मकान मालिकों के खिलाफ जल्द ही व्यापक स्तर पर कानूनी कार्रवाई की मुहिम छेड़ी जाएगी। डीसी गुरप्रीत कौर सपरा एवं एसएसपी कुलदीप सिंह चाहल के निर्देशानुसार थाना प्रभारी मोहिंदर सिंह ने सभी मकान मालिकों को किरायेदारों की पूरी जानकारी देने के आदेश जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि पेइंग गेस्ट, गेस्ट हाउस सहित मकान, दुकान किराए पर देने से पहले किराएदारों की पूरी जांच पड़ताल करने के बाद ही मकान किराए पर दें। इसके अलावा दुकानों, ढाबों व फैक्ट्री के वर्कर्स समेत किरायेदारों बारे पुलिस थाने में भी सूचना दर्ज करवाई जाए। उन्होंने बताया कि कुछ समाज विरोधी लोग जो किराए पर रहते हैं, उनकी सूचना न देने पर वे आम लोगों की जान माल को बिना डर के खतरा पहुंचाते हैं।