ज़िरकपुर

  • Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Zirakpur
  • फुटओवर ब्रिज बनाने को एनएचएआई तैयार, जमीन देनी होगी एमसी को
--Advertisement--

फुटओवर ब्रिज बनाने को एनएचएआई तैयार, जमीन देनी होगी एमसी को

जीरकपुर में सड़क पर चल रहे तेज रफ्तार ट्रैफिक के बीच सड़क पार करना लोगों के लिए खतरनाक साबित हो रहा है। गत वीरवार...

Danik Bhaskar

Jul 08, 2018, 02:20 AM IST
जीरकपुर में सड़क पर चल रहे तेज रफ्तार ट्रैफिक के बीच सड़क पार करना लोगों के लिए खतरनाक साबित हो रहा है। गत वीरवार सुबह करीब 8 बजे सड़क पार कर रहे एक बुजुर्ग को मोटरसाइकिल ने जबरदस्त टक्कर मार दी थी। करीब 70 साल के बुजुर्ग की इस हादसे में मौत हो गई थी। मोटरसाइकिल चालक निरपजीत भी जख्मी हुआ। ऐसे कई हादसे यहां हो चुके हैं। हादसों को रोकने के लिए यहां कुछ जगहों पर फुट ओवर ब्रिज बनाने बेहद जरूरी हैं। एनएचएआई भी यहां फुट ओवर ब्रिज बनाने को तैयार है। इस काम में रुकावट जगह को लेकर पैदा हो रही है। एनएचएआई के एक अधिकारी ने बताया कि हमने इसके लिए यहां सर्वे किया। जगह को लेकर रुकावट है। अगर जीरकपुर नगर परिषद यहां फुटओवर ब्रिज बनाने के लिए हाईवे के दोनाें ओर जगह एक्वायर करके दे तो वहां जल्दी ही फुट ओवर ब्रिज बना दिया जाएगा। पर ऐसा न हो कि हम किसी जगह ब्रिज बना दें, पैसा भी खर्च कर दें और बाद में उस जगह को लेकर कोई रुकावट पैदा हो जाए।

जनवरी में की थी अधिकारियों से बात: चंडीगढ़-अंबाला हाईवे पर रोजाना 35 से 40 हजार से अधिक के व्हीकल्स के बीच सड़क पार करना पब्लिक के लिए जान जोखिम में डालने जैसा साबित हो रहा है। इस बात तो लेकर जनवरी में विधायक एनके शर्मा से पब्लिक मिली। शर्मा ने जनवरी में एनएचएआई के अधिकारियों के साथ मीटिंग कर फुटओवर ब्रिज बनाने की मांग की।

इसलिए जरूरी है फुटआेवर ब्रिज

शर्मा ने एनएचएआई के अधिकारियांे से कहा कि यहां फुट ओवर ब्रिज इसलिए जरूरी है, क्योंिक यहां एक ओर वीआईपी रोड व दूसरी ओर गाजीपुर है। दोनों एरिया के लोगों के लिए मेट्राे के पास फुटओवर ब्रिज बनाया जाना चाहिए। इस जगह सड़क के दोनों ओर काफी आबादी है। एक ओर वीआईपी रोड की दर्जनों सोसायटीज व अपार्टमेंट्स हैं। दूसरी ओर चंडीगढ़ एन्क्लेव, यमुना एन्क्लेव मोतिया राॅयल सिटी सहित कई अपार्टमेंट्स व साेसायटीज और रेजीडेंशियल कॉलोनियां हैं। रोजाना हजारों लोग इस हाईवे पर एक ओर से दूसरी तरफ जाते हैं। ऐसे में हादसे होने का डर बना रहता है। इसलिए यहां फुट ओवर ब्रिज बनाया जाना चाहिए।



-कुलविंदर सोही, प्रधान, नगर परिषद जीरकपुर

Click to listen..