• Hindi News
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Zirakpur
  • लोग बोले- आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस के पास नहीं समय, तो जांच सीआईए स्टाफ को सौंपी जाए
--Advertisement--

लोग बोले- आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस के पास नहीं समय, तो जांच सीआईए स्टाफ को सौंपी जाए

बलटाना की सैनी विहार फेज-1 के मकान नंबर 216 में डाका डालने वाले गिरोह का एक भी सदस्य अभी तक पकड़ा नहीं गया है। पुलिस ने...

Dainik Bhaskar

Jun 01, 2018, 02:20 AM IST
लोग बोले- आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस के पास नहीं समय, तो जांच सीआईए स्टाफ को सौंपी जाए
बलटाना की सैनी विहार फेज-1 के मकान नंबर 216 में डाका डालने वाले गिरोह का एक भी सदस्य अभी तक पकड़ा नहीं गया है। पुलिस ने अब तक इस केस में घटना के दिन घर के आसपास काम कर रहे मोबाइल फोन की भी डिटेल पता नहीं की। जब भी इस केस के बारे में पुलिस से मिलते हैं तो वे किसी अन्य केस में उलझे होते हैं। इसलिए अगर बलटाना चौकी पुलिस के पास समय नहीं है, या स्टाफ नहीं है तो इस केस को सीआईए स्टाफ को सौंपा जाए। ताकि इसमें जल्दी से जांच हो सके। इस मांग को लेकर मुकेश मित्तल कई लोगों के साथ बुधवार शाम को बलटाना पुलिस चौकी पहुंचे। लोगों ने मांग की है कि इस केस को जल्दी सुलझाया जाए। डाका डालने वालों की सीसीटीवी में चेहरे नजर आ रहे हैं, उन्हें पकड़ा जाए।

पुलिस की कार्रवाई सुस्त: मुकेश मित्तल ने बताया कि उसका परिवार वारदात के बाद से दहशत में है। जिस तरह से वे चाकू लेकर घर में घुसे और वारदात के बाद सड़क पर भागे तो उससे साफ है कि अगर घर में उस दिन कोई होता तो लुटेरे किसी की जान ले लेते। यह घटना दिन में 11.40 से लेकर 1.10 बजे के बीच की है। इसकी पूरी सीसीटीवी रिकॉर्डिंग भी पुलिस को दे दी है। मुकेश मित्तल ने बताया कि डाका डालने वालों को पकड़ने के लिए पुलिस की कार्रवाई सुस्त है।

बलटाना निवासी संजीव ने बताया कि किसी के घर में डाका पड़ता है। तो पुलिस को उसे प्राथमिकता के आधार पर हल करना चाहिए। ऐसे समय बीतने के साथ केस को बंद करने से सुरक्षा व्यवस्था कमजोर होगी। क्रिमिनल के मन में डर नहीं रहेगा। वह कहीं और डाका डालेगा।

क्या कहा चौकी इंचार्ज ने : बलटाना चौकी इंचार्ज, सतिंदर सिंह ने कहा कि सीसीटीवी फुटेज में जिनके भी चेहरे रिकार्ड हैं। उन सभी की फोटो लेकर ट्राईसिटी और आसपास एरिया के सभी पुलिस स्टेशन-थानों में चेक करने के लिए भेज दिया है। ताकि किसी क्रिमिनल का इसमें हाथ होने के बारे में पता किया जा सके। पर अभी तक कहीं से यह मैच नहीं हो पाया है। इस मामले पर काम हो रहा है।

X
लोग बोले- आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस के पास नहीं समय, तो जांच सीआईए स्टाफ को सौंपी जाए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..