--Advertisement--

बाबा बंदा सिंह बहादुर पर दिखाई गई धार्मिक फिल्म

जीरकपुर| हरमिलाप नगर स्थित गुरुद्वारा साहिब में बाबा बंदा सिंह बहादुर पर एक एनिमेटेड धार्मिक फिल्म दिखाई गई।...

Danik Bhaskar | Jun 17, 2018, 02:20 AM IST
जीरकपुर| हरमिलाप नगर स्थित गुरुद्वारा साहिब में बाबा बंदा सिंह बहादुर पर एक एनिमेटेड धार्मिक फिल्म दिखाई गई। इससे युवा पीढ़ी को बताया गया कि बाबा बंदा सिंह बहादुर ने अपने समाज के लिए कितना बड़ा बलिदान दिया था।

इसमें बताया गया कि गुरु गोविंद सिंह जी की गुरुदीक्षा व अमृतपान से माधेदास कैसे केशधारी सिंह बन गया। पांच प्यारों ने माधेदास का नाम परिवर्तित करके गुरुबख्श सिंह रखा था। लेकिन, वह अपने आप को गुरु गोविंद सिंह जी का बंदा ही कहलाता रहा। इसीलिए, इतिहास में वह बाबा बंदा बहादुर के नाम से ही प्रसिद्ध हुए। फिल्म में बताया गया कि गुरु गोविंद सिंह जी ने उन्हें पांच तीर, एक निशान साहिब, एक नगाड़ा और एक हुक्मनामा देकर पंजाब के लिए रवाना किया था। गुरु जी के साथ हुए अत्याचारों का बदला लेने के लिए उत्सुक बाबा बंदा सिंह ने अपनी सेना को मजबूत किया। बाबा बन्दा सिंह ने हजारों सिख सैनिकों के साथ पंजाब पहुंचकर गुरु तेगबहादुर जी का शीश काटने वाले जलालुद्दीन का सिर काटा। फिर सरहिन्द के नवाब वजीर खान काे भी मारा। बाबा बंदा सिंह बहादुर ने गुरु जी के छोटे पुत्रों को दीवार में चिनवाने वाले सरहिंद के नवाब से बदला लेने के लिए उतावले थे, जैसे की गुरु जी के चारों पुत्र बलिदान हो चुके थे।