• Home
  • Chandigarh Zilla
  • Mohali
  • Zirakpur
  • गुरजीवन विहार में 10 दिन से नहीं आया पानी, लोग टैंकर मंगवाकर कर रहे गुजारा
--Advertisement--

गुरजीवन विहार में 10 दिन से नहीं आया पानी, लोग टैंकर मंगवाकर कर रहे गुजारा

एमसी प्रधान साहब आप हमें शहर से बाहर कर दो। आप ही यहां रहो बिना पानी के। आपने जिस ठेकेदार को यहां पानी की सप्लाई के...

Danik Bhaskar | Jul 03, 2018, 03:05 AM IST
एमसी प्रधान साहब आप हमें शहर से बाहर कर दो। आप ही यहां रहो बिना पानी के। आपने जिस ठेकेदार को यहां पानी की सप्लाई के लिए रखा है। उससे पब्लिक दुखी है। वह काम नहीं करता। मैं ठेकेदार की विजिलेंस जांच करवाउंगा। डीसी को भी शिकायत दूंगा। यह बात गुरजीवन विहार के प्रधान रामकुमार शर्मा ने एमसी प्रधान कुलविंदर सोही से कही। ठेकेदार कुलदीप सिंह से जब पूछा गया कि गुरजीवन विहार में पानी क्यों नहीं दिया जा रहा है। तो इसके जवाब में कुलदीप सिंह ने कहा कि ट्यूबवेल फेल हो गया है। पानी कहां से दूं। मैं कुछ नहीं कर सकता। कुलदीप से जब पूछा कि पानी देने का कुछ तो इंतजाम करना पड़ेगा। किसी दूसरे ट्यूबवेल से पानी की सप्लाई जोड़ दो तो इसके जवाब में कुलदीप ने कहा देखता हूं अफसरों से बात करके।

ठेकेदार कुलदीप जीरकपुर एमसी में एक दशक से काम कर रहा है। कुलदीप के अलावा यहां कोई दूसरा ठेकेदार एमसी प्रधान और अफसरों को नजर नहीं आता। लोगों का अारोप है कि पानी के बारे में पूछना हो तो पभात और बलटाना के पार्षदों का ठेकेदार कुलदीप फोन तक नहीं उठाता। उसे बदलना चाहिए।

इसकी जांच होनी चाहिए

सिटी रिपोर्टर | जीरकपुर

एमसी प्रधान साहब आप हमें शहर से बाहर कर दो। आप ही यहां रहो बिना पानी के। आपने जिस ठेकेदार को यहां पानी की सप्लाई के लिए रखा है। उससे पब्लिक दुखी है। वह काम नहीं करता। मैं ठेकेदार की विजिलेंस जांच करवाउंगा। डीसी को भी शिकायत दूंगा। यह बात गुरजीवन विहार के प्रधान रामकुमार शर्मा ने एमसी प्रधान कुलविंदर सोही से कही। ठेकेदार कुलदीप सिंह से जब पूछा गया कि गुरजीवन विहार में पानी क्यों नहीं दिया जा रहा है। तो इसके जवाब में कुलदीप सिंह ने कहा कि ट्यूबवेल फेल हो गया है। पानी कहां से दूं। मैं कुछ नहीं कर सकता। कुलदीप से जब पूछा कि पानी देने का कुछ तो इंतजाम करना पड़ेगा। किसी दूसरे ट्यूबवेल से पानी की सप्लाई जोड़ दो तो इसके जवाब में कुलदीप ने कहा देखता हूं अफसरों से बात करके।

ठेकेदार कुलदीप जीरकपुर एमसी में एक दशक से काम कर रहा है। कुलदीप के अलावा यहां कोई दूसरा ठेकेदार एमसी प्रधान और अफसरों को नजर नहीं आता। लोगों का अारोप है कि पानी के बारे में पूछना हो तो पभात और बलटाना के पार्षदों का ठेकेदार कुलदीप फोन तक नहीं उठाता। उसे बदलना चाहिए।


पब्लिक परेशान


350 रुपए ले रहा टैंकर वाला