--Advertisement--

जिसके घर में न हों ये 4 चीजें वहां ज्यादा देर नहीं ठहरना चाहिए, जानिए क्यों

मेहमान के आने की कोई तिथि यानी समय निश्चित नहीं होता, इसलिए इन्हें अतिथि भी कहते हैं।

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2018, 05:00 PM IST
life management of manu smriti

रिलीजन डेस्क. मेहमान के आने की कोई तिथि यानी समय निश्चित नहीं होता, इसलिए इन्हें अतिथि भी कहते हैं। भारतीय संस्कृति में मेहमान को देवता माना गया है। मनु स्मृति में मेहमानों से संबंधित अनेक नियम व बातें बताई गई हैं, जैसे- कैसे लोगों को मेहमान नहीं बनाना चाहिए आदि। मनु स्मृति में ये भी बताया गया है कि किसी व्यक्ति के घर में कौन सी 4 चीजें न हों तो वहां मेहमान बनकर ज्यादा देर नहीं ठहरना चाहिए।

श्लोक
आसनाशनशय्याभिरद्भिर्मूलफलेन वा।
नास्य कश्चिद्वसेद्गेहे शक्तितोनर्चितोअतिथिः।।

अर्थ- जिस व्यक्ति के घर में बैठने के लिए 1. आसन, 2. पेट भरने के लिए भोजन, 3. आराम करने के लिए शय्या (पलंग) व 4. प्यास बुझाने के लिए जल आदि न हो, वहां मेहमान बनकर नहीं ठहरना चाहिए।

1. आसन
आप यदि किसी के घर मेहमान बनकर जाएं और उसके यहां आपको बैठाने के लिए उचित आसन न हो तो समझ लेना चाहिए कि उसके घर में मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। ऐसी स्थिति में उसके घर अधिक देर तक नहीं रुकना चाहिए।

2. भोजन
यदि कोई घर आए मेहमान को भोजन करवाने में असमर्थ है तो ऐसे व्यक्ति के घर भूल कर भी नहीं जाना चाहिए। यदि चले जाएं तो वहां ठहरना नहीं चाहिए।

3. शय्या यानी पलंग

मेहमान का ठीक तरह से ध्यान न रख पाने के कारण किसी के भी मन में ग्लानि का भाव आ सकता है इसलिए यदि आप ऐसे व्यक्ति के यहां मेहमान बनकर गए हों, जहां पलंग या सोने की उचित व्यवस्था न हो, तो भी उसके घर अधिक समय तक नहीं ठहरना चाहिए।

4. जल
यहां बात पानी की कमी को लेकर कही गई है, क्योंकि घर आए मेहमान की प्यास बुझाने जितना पानी भी उपलब्ध न हो, यह तो संभव नहीं है। वर्तमान समय में पानी की कमी एक विकट समस्या है। जिन परिवारों के साथ यह समस्या है, यदि उनके घर मेहमान आ जाए तो उनके लिए अतिरिक्त पानी की व्यवस्था करनी पड़ती है। ऐसे में उस परिवार की मुश्किल और भी बढ़ जाती है।

X
life management of manu smriti
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..