Dharm Granth

--Advertisement--

इन 7 बातों का ध्यान रख एक कॉमन मैन भी बन सकता है सक्सेसफुल

महर्षि वेदव्यास द्वारा रचित महाभारत में महात्मा विदुर ने सफलता व असफलता के बारे में अनेक सूत्र बताए हैं।

Dainik Bhaskar

Apr 06, 2018, 07:31 PM IST
mahabharat- 7 success factors in life.

यूटिलिटी डेस्क. महर्षि वेदव्यास द्वारा रचित महाभारत में महात्मा विदुर ने सफलता व असफलता के बारे में अनेक सूत्र बताए हैं। महाभारत के उद्योग पर्व में महात्मा विदुर ने महाराज धृतराष्ट्र को उन 7 कामों के बारे में बताया है, जिन्हें करने से साधारण व्यक्ति को भी सफलता मिल सकती है। ये 7 काम इस प्रकार हैं-

श्लोक
उत्थानं संयमो दाक्ष्यमप्रमादो धृति: स्मृति:।
समीक्ष्य च समारम्भो विद्धि मूलं भवस्य तु।।

अर्थ- 1. उद्योग, 2. संयम, 3. दक्षता, 4. सावधानी, 5. धैर्य, 6. स्मृति और 7. सोच-विचार कर कार्यारम्भ करना– इन्हें उन्नति का मूल मंत्र समझिये।

1. उद्योग यानी परिश्रम व प्रयास
किसी भी क्षेत्र में सफलता पाने के लिए लगातार परिश्रम व प्रयास करते रहना जरूरी है। परिश्रम के अभाव में सफलता नहीं मिलती। कुछ लोग सफल होने के लिए शार्ट कट अपनाते हैं। भविष्य में इन्हें अपनी गलती का अहसास होता है, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी होती है। असल में सफलता के लिए संकल्प, कर्म के साथ उद्यम यानी परिश्रम की भावना के तय पैमानों को अपनाए बिना कामयाबी की मंजिल को छूना व उस पर कायम रहना मुश्किल है।


2. संयम
महात्मा विदुर के अनुसार, सफलता के लिए संयम भी बहुत जरूरी है। देखने में आता है कि छोटी सी सफलता मिलने पर ही लोग मन पर संयम नहीं रख पाते और बड़ी-बड़ी बातें करने लगते हैं। इस उतावलेपन में वह अपना ही नुकसान कर बैठते हैं। इसलिए यदि आप सफलता पाना चाहते हैं तो मन पर संयम रखना बहुत जरूरी है।

अन्य 5 कामों के बारे में जानने के लिए आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करें-

ये भी पढ़ें-

खाने से जुड़ी ये आदत आपको बना सकती है गरीब, धन लाभ के लिए ऐसे करें भोजन

ये फूल बना सकता है आपको धनवान, करें इन 6 में से कोई भी 1 उपाय

mahabharat- 7 success factors in life.

3. दक्षता
सफलता के लिए दक्षता यानी किसी भी काम में कुशलता होना बहुत जरूरी है। कुछ लोग जल्दी सफलता पाने के लिए दक्षता के बिना ही प्रयास शुरू कर देते हैं। परिणाम स्वरूप सफलता मिलना तो दूर वह लक्ष्य तक पहुंच ही नहीं पाते। अतः सफलता पाने के लिए किसी भी कार्य या कला में महारत होना बहुत ही जरूरी है।

 

4. सावधानी
सफलता पाने की जिद्द में हम ये बात भूल ही जाते हैं कि हमें किन बातों को नजरअंदाज करना है। यही सावधानी है। यदि हम सफलता पाने के मार्ग में सावधानियों को देखेंगे तो आगे जाकर यही गलतियां हमारे रास्ते का कांटा बन सकती हैं। अतः सफलता के मार्ग पर चलते हुए सावधानियों को भी ध्यान रखनी चाहिए।


5. धैर्य
महात्मा विदुर के अनुसार सफलता पाने के लिए मन में धैर्य भी होना चाहिए। जल्दबाजी में की गई आपकी एक छोटी सी गलती आपका सपना तोड़ सकती है। तमाम कोशिशों के बाद भी मनचाहे परिणाम न मिलने या अपेक्षा पूरा न होने पर लक्ष्य से न भटकें, न उसे छोड़ने का विचार करें। बल्कि मजबूत संकल्प और दोगुनी मेहनत के साथ उसे पाने में जुट जाएं।

 
mahabharat- 7 success factors in life.

6. स्मृति
स्मृति यानी याददाश्त। सफलता पाने के लिए स्मृति यानी याददाश्ता का तेज होना भी जरूरी है। ये गुण भी सभी लोगों में नहीं होता। आपका दिमाग जितना तेज होगा, याददाश्त भी उतनी पैनी होगी।

 

7. सोच-विचार कर कार्यारम्भ करना
कोई भी काम शुरू करने से पहले उसके विषय में पूरी तरह से सोच-विचार अवश्य करनी चाहिए। बिना सोच-विचार शुरू किए गए कार्य में सफलता मिलने में संदेह रहता है या आगे जाकर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

 
X
mahabharat- 7 success factors in life.
mahabharat- 7 success factors in life.
mahabharat- 7 success factors in life.
Click to listen..