विज्ञापन

J&K की पू‌र्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती बोलीं- BJP से गठबंधन करने का मतलब है जहर पीना

Dainik Bhaskar

Jul 30, 2018, 02:13 PM IST

मुफ्ती ने कहा- बीजेपी के साथ गठबंधन करना जहर पीने जैसा है। मैंने 2 साल 2 महीने तक इसे सहन किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के
  • comment

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर में बीजेपी-पीडीपी सरकार गिरने के बाद वहां की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने पहली बार भाजपा के खिलाफ तल्ख बयान दिया है। महबूबा ने सोमवार को श्रीनगर में बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाया। मुफ्ती ने कहा- बीजेपी के साथ गठबंधन करना जहर पीने जैसा है। मैंने 2 साल 2 महीने तक इसे सहन किया। बता दें कि जून में भारतीय जनता पार्टी ने सरकार से समर्थन वापस ले लिया था और इस तरह जम्मू-कश्मीर की सरकार गिर गई थी। बाद में वहां राज्यपाल शासन लगाया गया था जो अब भी जारी है।

महबूबा ने और क्या कहा?
- मीडिया से बातचीत में महबूबा मुफ्ती ने कहा- मुफ्ती साहब बीजेपी से हाथ मिलाने को इसलिए तैयार हुए थे क्योंकि अटल बिहारी वाजपेयी जी के दौर में हमारा गठबंधन अच्छा चला था। लेकिन, इस बार ये कठिन फैसला था। बीजेपी के साथ गठबंधन करना जहर पीने जैसा है। इसको मैंने 2 साल और 2 महीने सहन किया।
भाजपा ने क्या कहा था : 20 जून को भाजपा नेता राम माधव ने कहा था, ‘‘घाटी में आतंकवाद, कट्टरपंथ, हिंसा बढ़ रही है। ऐसे माहौल में सरकार में रहना मुश्किल था। रमजान के दौरान केंद्र ने शांति के मकसद से ऑपरेशंस रुकवाए। लेकिन बदले में शांति नहीं मिली। जम्मू और कश्मीर क्षेत्र के बीच सरकार के भेदभाव के कारण भी हम गठबंधन में नहीं रह सकते थे।’’

लेकिन असली दो वजह ये थीं: पहली- रमजान के दौरान सुरक्षाबल आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन रोक दें, इसे लेकर भाजपा-पीडीपी में मतभेद थे। महबूबा के दबाव में केंद्र ने सीजफायर तो किया लेकिन इस दौरान घाटी में 66 आतंकी हमले हुए, मई से 48 ज्यादा। ऑपरेशन ऑलआउट को लेकर भी भाजपा-पीडीपी में मतभेद था। दूसरी- पीडीपी चाहती थी कि केंद्र सरकार हुर्रियत समेत सभी अलगाववादियों से बातचीत करे। लेकिन, भाजपा इसके पक्ष में नहीं थी।

चुनाव के चार महीने बाद हुआ था गठबंधन: जम्मू-कश्मीर में 2014 के विधानसभा चुनाव में किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला था। चार महीने बाद फरवरी 2015 में भाजपा और पीडीपी के बीच गठबंधन हुआ था। पीडीपी के दिवंगत प्रमुख मुफ्ती मोहम्मद सईद मार्च 2015 में मुख्यमंत्री बने थे। जनवरी 2016 में सईद का निधन हो गया। उनके निधन के करीब तीन महीने बाद महबूबा मुफ्ती मुख्यमंत्री बनीं। सईद और महबूबा की सरकार में उपमुख्यमंत्री का पद भाजपा को मिला। सईद जब सीएम थे, तब डिप्टी सीएम भाजपा के निर्मल सिंह थे। इसी साल अप्रैल में निर्मल सिंह की जगह भाजपा के कविंदर गुप्ता डिप्टी सीएम बने।

X
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन