--Advertisement--

एक इंसान के थे दो चेहरे, एक सोता था-दूसरा जागता था, जाग रहा चेहरा कानों में फुसफुसाता रहता था, तंग आकर शख्स ने उठा लिया खौफनाक कदम

दावा किया जाता है कि 19वीं शताब्दी में इंग्लैंड में दो चेहरे वाला व्यक्ति था।

Dainik Bhaskar

Jun 04, 2018, 12:39 PM IST

  • 19वीं शताब्दी में था दो चेहरे वाला इंसान
  • 23 साल के एडवर्ड मोरड्राके के थे दो चेहरे
  • दूसरे चेहरे से तंग आकर एडवर्ड ने कर ली थी आत्महत्या

खबरें जरा हटके. दुनियाभर में विचित्र तरह के इंसान पैदा होते रहते हैं, आपने शायद ऐसे लोग देखे भी हों पर क्या आपने कभी दो चेहरे वाले इंसान को देखा है? आपने शायद इसकी कल्पना भी ना की हो पर ये सच है। दावा किया जाता है कि 19वीं शताब्दी में इंग्लैंड में एक ऐसा व्यक्ति था जिसे देखकर लोगों को अपनी आंखों पर भरोसा नहीं होता था। इस शख्स के दो चेहरे थे।

- इस व्यक्ति का नाम एडवर्ड मोरड्राके था। यह दुनिया का पहला ऐसा इंसान था जिसके दो चेहरे थे। इस व्यक्ति का जब एक चेहरा सोता था तो दूसरा चेहरा जागता था। यह व्यक्ति अपने दो चेहरों की वजह से काफी परेशान था।

परेशान होकर कर ली आत्महत्या

एडवर्ड का दूसरा चेहरा सक्रिय नहीं था, लेकिन तब सक्रिय हो जाता जब एडवर्ड सोने की कोशिश करते थे। 1985 में बॉस्टन पोस्ट ने एडवर्ड के ऊपर छपे एक लेख में बताया कि एडवर्ड इससे बेहद तंग आ चुके थे। 23 साल के एडवर्ड अपने दूसरे चेहरे को हटवाने के लिए डॉक्टर के पास भी गए लेकिन डॉक्टरों ने उनकी जान का हवाला देते हुए इलाज करने से मना कर दिया था।

- एडवर्ड अपने दूसरे चेहरे से रात में बहुत परेशान हो जाता था। दूसरा चेहरा रातभर उसके कानों में फुस-फुसाता रहता। एडवर्ड के मुताबिक ये उसके लिए नर्क से बदतर था। कुछ समय बाद तंग आकर एडवर्ड ने आत्महत्या कर ली। 1896 की मेडिकल इंसाइक्लोपीडिया में एडवर्ड का जिक्र किया गया है। हालांकि, कई लोग उनके अस्तित्व को केवल किवदंती मानते हैं।

इसके बाद कई तस्वीरों को एडवर्ड बताया जा चुका है। इसके बाद कई तस्वीरों को एडवर्ड बताया जा चुका है।
उनकी मौत के सालों बाद एक खोपड़ी की फोटो भी सामने आई थी जिसे एडवर्ड की खोपड़ी बताया जाता था। उनकी मौत के सालों बाद एक खोपड़ी की फोटो भी सामने आई थी जिसे एडवर्ड की खोपड़ी बताया जाता था।
बाद में पता चला कि ये फेक थी। हालांकि, एडवर्ड की कहानी पर लोग अब भी यकीन करते हैं। बाद में पता चला कि ये फेक थी। हालांकि, एडवर्ड की कहानी पर लोग अब भी यकीन करते हैं।
X
इसके बाद कई तस्वीरों को एडवर्ड बताया जा चुका है।इसके बाद कई तस्वीरों को एडवर्ड बताया जा चुका है।
उनकी मौत के सालों बाद एक खोपड़ी की फोटो भी सामने आई थी जिसे एडवर्ड की खोपड़ी बताया जाता था।उनकी मौत के सालों बाद एक खोपड़ी की फोटो भी सामने आई थी जिसे एडवर्ड की खोपड़ी बताया जाता था।
बाद में पता चला कि ये फेक थी। हालांकि, एडवर्ड की कहानी पर लोग अब भी यकीन करते हैं।बाद में पता चला कि ये फेक थी। हालांकि, एडवर्ड की कहानी पर लोग अब भी यकीन करते हैं।
Bhaskar Whatsapp

Recommended