Hindi News »Self-Help »Self Help» Manual Safety And Security Of Children In Schools India

स्कूल जाने वाले हर बच्चे के पैरेंट्स को पता होना चाहिए ये 168 का फेर, सरकार ने किया जारी

हत्या और यौन शोषण जैसी घटनाएं तक स्कूलों में हो चुकी हैं...

dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 08, 2018, 10:04 AM IST

  • स्कूल जाने वाले हर बच्चे के पैरेंट्स को पता होना चाहिए ये 168 का फेर, सरकार ने किया जारी
    +1और स्लाइड देखें

    यूटिलिटी डेस्क। इन दिनों में स्कूलों में एडमिशन की प्रॉसेस चल रही है। पैरेंट्स अपने बच्चे का एडमिशन अच्छे से अच्छे स्कूल में करवाना चाहते हैं। पिछले कुछ दिनों में स्कूलों में हुई घटनाओं ने भी पैरेंट्स को चिंता में डाल दिया है। हत्या और यौन शोषण जैसी घटनाएं तक स्कूलों में हो चुकी हैं। ऐसे में जरूरी है कि सही स्कूल में बच्चे का एडमिशन करवाया जाए। जहां वे अच्छी एजुकेशन तो हासिल करे ही साथ ही पूरी तरह से सिक्योर भी रहे।

    पैरेंट्स की इसी चिंता को ध्यान में रखते हुए सरकार ने 164 बिंदुओं का एक सुरक्षा मैनुअल तैयार किया है। इस मैनुअल को पढ़कर आप यह पता कर सकते हैं कि जिस स्कूल में आप बच्चे का एडमिशन करवा रहे हैं, वे सभी पैमानों पर खरा उतरता है या नहीं। यह मैनुअल मानव संसाधन विकास मंत्रालय और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के निर्देश पर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने तैयार किया है।

    चेक लिस्ट दी गई है


    इस मैन्युअल में 164 बिंदुओं की एक चेक लिस्ट दी गई है। इस लिस्ट के आधार पर पैरेंट्स स्कूल में सुरक्षा के इंतजाम का पता कर सकते हैं। पैरेंट्स चाहें तो वे मैनुअल देखकर संबंधित स्कूल का ऑडिट कर सकते हैं। अगर कहीं कमी लगती है तो वे इसकी शिकायत भी कर सकते हैं। शिकायत शिक्षा विभाग में करना होगी। इस मैनुअल को राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की वेबसाइट ncpcr.gov.in से डाउनलोड किया जा सकता है।

    क्या-क्या दिया है मैनुअल में, देखिए अगली स्लाइड में...

  • स्कूल जाने वाले हर बच्चे के पैरेंट्स को पता होना चाहिए ये 168 का फेर, सरकार ने किया जारी
    +1और स्लाइड देखें

    क्या-क्या दिया है मैनुअल में


    > इस मैनुअल में स्कूल बिल्डिंग कैसी होना चाहिए? क्लासरूम, लैब, किचन, टॉयलेट, ड्रिंकिंग वॉटर, इलेक्ट्रिक सिस्टम, फायर सेफ्टी मैनेजमेंट, प्लेग्राउंड, बाउंड्रीवॉल से लेकर ट्रांसपोर्ट और हाईजीन तक के बारे में बताया गया है। इन मापदंडों के आधार पर आप स्कूल चुनेंगे तो बच्चों को लेकर काफी हद तक

    सिक्योर हो सकते हैं।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Self Help

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×