लॉकडाउन में ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर शिफ्ट हुए कई स्कूल, कॉलेज, तकनीकी संस्थान से लेकर यूनिवर्सिटी

Palamu News - कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर पहला लॉकडाउन शिक्षण संस्थानों में ही हुआ। ठप पड़ी शैक्षणिक गतिविधियों को लाइन पर...

Mar 27, 2020, 07:35 AM IST

कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर पहला लॉकडाउन शिक्षण संस्थानों में ही हुआ। ठप पड़ी शैक्षणिक गतिविधियों को लाइन पर लाने के लिए स्कूलों, कॉलेजों, तकनीकी संस्थानों लेकर विश्वविद्यालयों तक ने ऑनलाइन कंटेंट डेवलप करना शुरू किया। सोशल मीडिया के प्लेटफार्म पर इसे शेयर कर रहें और असानमेंट भी दे रहे हैं। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने भी शिक्षकों को समय का सदुपयोग करने की एडवाइजरी बीते सोमवार को जारी की है। लेकिन, कुछ विश्वविद्यालय ऐसे भी हैं जिन्होंने इस दिशा में सोचना ही बंद कर रखा है।

यहां शुरू है ऑनलाइन कंटेंट डेवलपमेंट प्रोग्राम

{पटना विवि के कुलपति प्रो. रासबिहारी प्रसाद सिंह ने शिक्षकों को घर पर रह कर ही ऑनलाइन कंटेंट डेवलप करने के साथ रिसर्च पेपर पर काम करने का निर्देश दिया है।

{पाटलिपुत्र विवि के शिक्षकों ने भी ई-कंटेंट पर काम करना शुरू कर दिया है। पाटलिपुत्र विवि के हिंदी विभाग के शिक्षक प्रो. बीके मंगलम ने एक वीडियो लेक्चर तैयार किया है।

{मुंगेर विश्वविद्यालय के कुलपति रंजीत कुमार वर्मा ने शिक्षकों को शोध कार्यों पर ध्यान देने, आर्टिकल तैयार करने का निर्देश दिया है जो किसी मान्यता प्राप्त जर्नल में छप सके।

{पूर्णिया विश्वविद्यालय ने व्यवस्था की है प्रतिदिन सभी शिक्षक एवं शोधार्थी पीपीटी, ऑडियो-वीडियो लेक्चर या हाथ से लिखे मटेरियल को विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपलोड करेंगे। इससे छात्र स्टडी मटेरियल तैयार कर सकेंगे।

{वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के शिक्षक आनॅलाइन कन्टेंट तैयार करेंगे। ताकि विद्यार्थी घर बैठे अपना सिलेबस पूरा कर सके।

बीआरए बिहार विवि के कुलपति प्रो. हनुमान प्रसाद पांडेय ने बताया, राय-मशविरा कर इसे लागू करने की सहमति बनाई जाएगी।

लनामिविवि ने सभी पीजी विभागाध्यक्षों व कॉलेजों प्रधानाचार्यों से सिलेबस से संबंधित वीडियो मांगा है। इससे चयन कर बेवसाइट पर डाला जाएगा।

इंजीनियरिंग-पॉलीटेक्निक कॉलेजों में भी ऑनलाइन स्टडी मेटेरियल उपलब्ध

इंजीनयिरिंग व पॉलीटेक्निक कॉलेजों के छात्रों के लिए ऑनलाइन स्टडी मटेरियल उपलब्ध होगा ताकि लॉकडाउन के कारण छात्रों की पढ़ाई बाधित नहीं हो। डिपार्टमेंट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के निदेशक ने सभी इंजीनिरिंग व पॉलीटेक्निक कॉलेजों के प्राचार्यों को इस आशय का पत्र भेजा है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना