मेयर ने विकास पर 300 करोड़ खर्च किए, सिद्धू 55 लाख ही लाए: पार्षद

Mohali Bhaskar News - नगर निगम के कार्यकाल का यह आखरी साल है, जिसके चलते अब शहर में किए गए विकास कार्यों का श्रेय लेने की जंग शुरू हो गई है।...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:33 AM IST
Mohali News - mayor spent 300 crores on development sidhu brought only 55 lakhs councilor
नगर निगम के कार्यकाल का यह आखरी साल है, जिसके चलते अब शहर में किए गए विकास कार्यों का श्रेय लेने की जंग शुरू हो गई है। पिछले हफ्ते से शुरू हुई जुबानी जंग केंद्र सरकार से आई अमरूत स्कीम के तहत 21 करोड़ रुपए की ग्रांट से शुरू हुई। कैबिनेट मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने मेयर को विकास कार्यों से संबंधित खुली बहस करने का जो चैलेंज दिया उसका जवाब देने के लिए अकाली-भाजपा के पार्षद सोमवार को सामने आए। पार्षदों ने कहा कि शहर में निगम की ओर से पिछले साढे 4 साल में मेयर कुलवंत सिंह की अगुवाई में अकाली-भाजपा ने जो विकास किया उसके आंकड़े निगम में मौजूद हैं। अब तक शहर के विकास पर 300 करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं। जबकि कैबिनेट मंत्री पिछले ढाई साल में अपनी सरकार से मात्र 55 लाख रुपए लेकर आए हैं। यह कोई विकास की बात नहीं है। निगम द्वारा किए गए विकास कार्यों का सेहरा अपने सिर बांधने की जगह अगर मंत्री सरकार से ग्रांट लाकर शहर का विकास करेंगे तो अकाली भाजपा पार्षद उन्हें सम्मानित करेंगे। बहस के लिए मेयर तो दूर मंत्री पार्षदों से ही बहस कर लें। दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। शहर के लोग जानते हैं कि शहर का विकास किसने करवाया है और कौन फौकी शोहरत के लिए विकास के दावे कर रहा है।

शहर में हुए विकास गिनवा रहे अकाली-भाजपा पार्षद

अकाली-भाजपा पार्षदों ने कहा शहर में अब तक नगर निगम की ओर से साढे 4 साल में 300 करोड़ रुपए खर्च किए गए। जिसमें 169 करोड़ रुपए नगर निगम की हाउस मीटिंग में विकास कार्यों के लिए पास किए। 131 करोड़ रुपए फाइनांस एंड कॉन्ट्रैक्ट कमेटियों में विकास के लिए पास किए। अलग-अलग वार्डों में 78 करोड़ रुपए के विकास कार्य करवाए गए। 38 करोड़ रुपए के जनरल काम और 15 करोड़ पब्लिक हेल्थ के काम करवाए जा चुके हैं। लेकिन कांग्रेस सरकार का मंत्री बनने के ढाई साल में एक बार 55 लाख रुपए की ग्रांट लाकर ऐसा माहौल तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं कि मानों शहर का सारा विकास उन्होंने ही करवाया हो।

मंत्री को शहर की फिक्र, तो सरकारी अस्पताल व डिस्पेंसरियों में सुधार करें

पार्षदों ने कहा सिद्धू पंजाब के हेल्थ मिनिस्टर हैं। उन्हें यह मंत्रालय मिले काफी समय हो चुका है कि शहर में जो सरकारी डिस्पेंसरियां व अस्पताल हैं उसकी हालत कैसी है यह शहर का हर नागरिक जानता है। अगर सिद्धू शहर के विकास की बात करते हैं तो पहले अपने विभाग के अंतर्गत आने वाली इन डिस्पेंसरियों की हालत को सुधारें। उन्होंने कहा कि अब तक डिस्पेंसरियों की हालत ठीक न किए जाने के चलते 5 अगस्त की हाउस मीटिंग में मेयर कुलवंत सिंह की अगुवाई में प्रस्ताव पारित किया गया था। जिसमें हेल्थ विभाग को लिखा गया कि शहर की डिस्पेंसरियों व सिविल अस्पताल की खस्ताहालत है इन्हें ठीक करने व यहां विकास कार्य शुरू करवाने के लिए नगर निगम को प्रवानगी दी जाए। लेकिन न तो प्रवानगी दी गई और न विभाग ने खुद इसे ठीक करवाया।

सिटी रिपोर्टर | मोहाली

नगर निगम के कार्यकाल का यह आखरी साल है, जिसके चलते अब शहर में किए गए विकास कार्यों का श्रेय लेने की जंग शुरू हो गई है। पिछले हफ्ते से शुरू हुई जुबानी जंग केंद्र सरकार से आई अमरूत स्कीम के तहत 21 करोड़ रुपए की ग्रांट से शुरू हुई। कैबिनेट मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने मेयर को विकास कार्यों से संबंधित खुली बहस करने का जो चैलेंज दिया उसका जवाब देने के लिए अकाली-भाजपा के पार्षद सोमवार को सामने आए। पार्षदों ने कहा कि शहर में निगम की ओर से पिछले साढे 4 साल में मेयर कुलवंत सिंह की अगुवाई में अकाली-भाजपा ने जो विकास किया उसके आंकड़े निगम में मौजूद हैं। अब तक शहर के विकास पर 300 करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं। जबकि कैबिनेट मंत्री पिछले ढाई साल में अपनी सरकार से मात्र 55 लाख रुपए लेकर आए हैं। यह कोई विकास की बात नहीं है। निगम द्वारा किए गए विकास कार्यों का सेहरा अपने सिर बांधने की जगह अगर मंत्री सरकार से ग्रांट लाकर शहर का विकास करेंगे तो अकाली भाजपा पार्षद उन्हें सम्मानित करेंगे। बहस के लिए मेयर तो दूर मंत्री पार्षदों से ही बहस कर लें। दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। शहर के लोग जानते हैं कि शहर का विकास किसने करवाया है और कौन फौकी शोहरत के लिए विकास के दावे कर रहा है।

ये वादे किए थे...

पार्षदों ने कहा कि सरकार बनने से पहले सिद्धू ने वादा किया था कि वे प्रॉपर्टी टैक्स से शहर को छूट दिलवाएंगे और नए बिल्डिंग लॉ लागू नहीं होने देंगे। इस मामले में एक बार भी बलबीर सिंह सिद्धू न तो विधानसभा में बोले और न ही इसे खत्म करवाने की कोई बात कही।

X
Mohali News - mayor spent 300 crores on development sidhu brought only 55 lakhs councilor
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना